मिर्जापुर में हुए भीषण हादसे ने राधेश्याम की दुनिया उजाड़ दी

तीन बहनों में दो की शादी एक ही घर में हुई थी

By: Sunil Yadav

Updated: 13 Dec 2017, 09:03 AM IST

मिर्जापुर. जिले में सोमवार को तिसुही कृषि विज्ञान केंद्र के पास हुए हादसे ने राधेश्याम को तोड़ कर दिया है। इस हादसे में राधेश्याम की बीवी समेत एक पुत्र व दो बेटीयों की मौत हो गई थी। जबकिं एक बेटी गंभीर रुप से घायल ट्रामा सेंटर में जिंदगी और मौत के बीच जंग लड़ रही है।


राधेश्याम के एक रिश्तेदार ने बताया कि उनकी चार पुत्री और एक पुत्र था। इनमें से राधेश्याम ने सिर्फ एक बेटी की शादी एक वर्ष पूर्व देवपुरा निवासी विमलेश से की थी और वह अपने ससुराल में थी। मुंडन संस्कार में उसे भी आना था लेकिन वह किसी कारण से नहीं आ सकी। इसके बाद सोमवार सुबह पत्नी, बेटे व दोनों बेटियां रिश्तेदारों के साथ ट्रैक्टर से विसुन पुरवा सीमा के ससुराल जा रहे थे। वहां से शीतला धाम मुंडन के लिए जाना था। सीमा के ससुराल पहुंचने से पहले ही रास्ते में पीछे से आ रहे ट्रक ने एक ही झटके में राधेश्याम की जिंदगी उजाड़ दी। इस हादसे में उनकी पत्नी सविता, पुत्र अखिलेश, पुत्री गुड्डी और नेहा की मौत हो गई जबकि रन्नों घायल हो गई। सिवता देवी तीन बहने थी। सविता, रन्नों और अनिता। सविता और रन्नों की शादी एक ही घर में हुई थी। सविता की शादी राधेश्याम और रन्नों की शादी राधेश्याम के भाई गोपाल के साथ हुई थी। जबकि अनिता की शादी मड़िहान क्षेत्र के पटेहर गांव में हुई थी। इस दुर्घटा में उसकी बहन अनिता की भी मौत हो गई।

 

गौरतलब है कि सोनभद्र मार्ग पर सोमवार की सुबह मड़िहान के तिसुही गांव के पास ट्रक और ट्रैक्टर की टक्कर में दस लोगों की मौत हो गई और कई लोग घायल हो गए। सभी लोग एक बच्चे की मुंडन कराने चुनार के अदलपुरा स्थित शीतलाधाम मंदिर जा रहे थे। हादसे में पांच लोगों ने मौके पर और पांच लोगों की मौत अस्पताल में हो गई थी। जबकि अन्य का इलाज चल रहा है।

Sunil Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned