मिर्जापुर में बादल फटने से 10 घरों समेत पूरा परिवार बहा, एक की मौत, तीन लापता

विंध्याचल थाना क्षेत्र के लेहड़िया में भारी बारिश से नदी में आई बाढ़

बादल फटने से नदी में अचानक आई बाढ़ में बहा परिवार, दो लोग बचाए गए। पिछले दो दिनों से लगातार हो रही है बारिश।
मिर्जापुर. लगातार दे दिनों से हो रही बारिश के बीच अचानक बादल फटने से आई बाढ़ में एक पूरा परिवार ही बह गया। इसमें दो लोगों की मौत हो गई, जबकि अभी भी तीन लोग लापता बताए गए हैं। बादल फटने की घटना बुधवार देर रात हुई। अचानक बादल फटने से आई बाढ़ में नदी के किनारे रहने वाले इस परिवार का पूरा मकान ही पानी की तेज धारा में बह गया। जिससे घर में सो रहे परिवार को संभलने तक का मौका नहीं मिला। सुबह जब ग्रामीणों ने खोजना शुरू किया तो परिवार के एक महिला की लाश मिली जबकि दो बच्चों को बचा लिया गया। तीन सदस्य अभी लापता हैं। मौके पर पहुंचे सीओ सिटी संजय सिंह, उपजिलाधिकारी अविनाश त्रिपाठी ने बताया कि हादसा बादल फटने से हुआ है, जो सरकारी सहायता हो सकेगी की जाएगी।





घटना विंध्याचल थाना क्षेत्र के लेहड़िया गांव की है जहां पहाड़ी नदी की तलहटी में बसे गांव में बीती रात खौफनाक नही। सुबह से ही हो रही रिमझिम बारिश रात तक चलती रही। लोग रात में खाना खा कर सोने गए कि अचानक बारिश इतनी तेज हो गई कि मिनटों में ही घरों में पानी घुस गया। बताया गया कि यह बादल फटने की घटना थी। कुछही देर बाद नदी पूरे उफान पर आ गयी। केशमनी का मकान नदी की तलहटी में होने के चलते वह पूरी तरह उफान की जद में आ गया। परिवार के लोग सोते रहे और रात के दो बचे अचानक मकान समेत नदी की धारा में बह गए। रात में उन्हें मदद भी नहीं मिल पायी, क्योंकि गांव चारों ओर से पानी से घिरा हुआ था।




Flood in Mirzapur 01




























विंध्याचल थाना क्षेत्र के लेहड़िया में भारी बारिश से नदी में अचानक आई बाढ़ 





देखें वीडियो- 



सुबह होने पर जब ग्रमीणों ने परिवार की तलाश शुरू की तो केशमनी मौर्य की पत्नी श्यामकुमारी का शव खेत मे मिला। थोड़ी दूर पर ही ग्रमीणों ने दो बच्चों विजय और गुड़िया को भी बचा लिया। पर केशमनी की बड़ी लड़की चन्द्रावती और उसके दो बच्चे अभी भी लापता बताए गए हैं। तबाही में बचे विजय ने बताया कि वह अपनी बहन गुड़िया को लेकर पेड़ पर चढ़ गया, जिससे उन दोनों की जान बच गयी।



तेज बहाव होने के चलते बचाव कार्य में दिक्कतें आ रही हैं। गांव वाले रात की घटना को बताते हुए सिहर गए। बताया कि किसी तरह डरते-डरते खौफ में रात बीती। गांव में कुल आठ घर इस बाढ़ की चपेट में आए हैं। दर्जनों मवेशियों की मौत हुई है।

Show More
रफतउद्दीन फरीद Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned