शऱाब का आदि था रोडवेज कर्मचारी, एक दिन पड़ोसियों ने पुलिस को किया फोन तो अपने घर में इस हाल में मिला

शऱाब का आदि था रोडवेज कर्मचारी, एक दिन पड़ोसियों ने पुलिस को किया फोन तो अपने घर में इस हाल में मिला
शऱाब का आदि था रोडवेज कर्मचारी, एक दिन पड़ोसियों ने पुलिस को किया फोन तो अपने घर में इस हाल में मिला

Jyoti Mini | Updated: 25 Jun 2018, 02:22:58 PM (IST) Mirzapur, Uttar Pradesh, India

एक दिन पड़ोसियों ने पुलिस को किया फोन तो अपने घर में इस हाल में मिला

मिर्जापुर. कटरा कोतवाली थाना क्षेत्र में रोडवेज कर्मचारी कि घर के अंदर शव मिलने से सनसनी फैल गयी। मामले का पता तब चला जब घर के अंदर से आ रही दुर्गंध की शिकायत स्थानीय लोगों ने पुलिस से किया। मौके पर पहुंची पुलिस ने जब घर के अंदर देखा तो वहां कर्मचारी का शव पड़ा हुआ था। बताया जा रहा कि, पिछले कई दिनों से कर्मचारी नहीं दिखाई पड़ रहा था। कोतवाली क्षेत्र के पथरिया स्थित विकास भवन के पीछे स्थित कालोनी में मकान से रविवार को सुबह दुर्गंध आने लगी जिससे वहां के लोगों का जीना दूभर हो गया और लोगों को किसी अनहोनी की संभावना व्यक्त करते हुए पुलिस को इसकी सूचना दिया।

मौके पर पहुचे मंडी चौकी प्रभारी राम सिंहासन शर्मा अपने अन्य सहयोगी के साथ के दुर्गंध आने वाली मकान के पास गए। मकान का दरवाजा अंदर से बंद था। किसी तरह दरवाजा जब खोला गया तो वहां छोटेलाल 55 वर्ष पुत्र चौथीराम का शव मिला। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मौके पर देखने से लग रहा था कि, शव कई दिनों से पड़ा था। पूरी तरह से खराब हो चुका था। घटना की सूचना मृतक के परिजनों को भी दे दी गयी।

प्राप्त जानकारी के अनुसार मृतक छोटेलाल मूलतः गोरखपुर जनपद के छरहा थाना अंतर्गत मोहल्ला जंगल गौरी के निवासी थे। जिले में पीली कोठी स्थित रोडवेज डिपो बड़े बाबू के पद पर कार्यरत थे। यहां वह अकेले रहा करते थे। आस-पास के लोगों ने पुलिस को बताया कि, वह शराब का बहुत अधिक सेवन करते थे। इसलिए संभावना व्यक्त की जा रही कि उनकी मौत अत्यधिक शराब के सेवन से हुआ है।

वहीं मंडी चौकी प्रभारी के अनुसार मामले कि जांच की जा रही है। अगल बगल पड़ोसियों से इनके बारे में पता किया तो बताया गया कि, वह गुरुवार को दिखाई दिए थे उसके बाद से नहीं दिखे थे। अत्यधिक शराब सेवन के कारण उनका शरीर काफी कमजोर हो चुका था और आसपास के लोग ही उनकी मदद किया करते थे।

 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned