हैवानियत: गांव में घुसे मगरमच्छ रस्सियों से बांधकर घसीटते हुए लोग

मड़िहान के सेमरा गाँव  में अचानक एक मगरमच्छ के घुसने से हड़कंप मच गया।ग्रामीणों ने मगरमच्छ को पकड़ तो लिया मगर इस बेजुबान को  बेरहमी के साथ रस्सियों में बाध कर खीचते हुए

मिर्ज़ापुर - जिले भारी बारिश और बढ़ते नदियो के जलस्तर से गाँवों में खतरा बढ़ गया है इस दौरान गाँवों में  मगरमच्छ मिलने की संख्या में इजाफा हो गया है।हालत। यह है की  नदियो से मगरमच्छ निकालकर इंसानी बस्तियों के तरफ रूख कर रहे है। इन मगरमच्छ के साथ इंसान भी उतनी ही बेरहमी से पेश आ रहे हैं। 


शनिवार को मड़िहान के सेमरा गाँव  में अचानक एक मगरमच्छ के घुसने से हड़कंप मच गया।ग्रामीणों ने मगरमच्छ को पकड़ तो लिया मगर इस बेजुबान को  बेरहमी के साथ रस्सियों में बाध कर खीचते हुए ले जाते दिखे  इसके मुख और पूछ में ग्रामीणों ने रस्सियों से बाध कर खींचते हुए ले जा रहे थे । इसे इन रस्सियों से  काफी देर तक बाधे रख्खा जिससे मगरमच्छ की हालत ख़राब हो गयी।

गाँव में छः फिट लंबे इस  मगरमच्छ  को देखने के लिए ग्रामीणों की भारी  भीड़ जुट गयी।थी । मगरमच्छ गाँव के पास से बहने वाली नदी बकहर  से निकल कर गाँव में पंहुचा था। ग्रामीणों ने इसकी सुचना वन अधिकारियो को दिया ।सूचना मिलने पर वन समिति के अध्यक्ष और वन रक्षकों ने ग्रामीणों के सहयोग सें मगरमच्छ को पकड़ एक गड्ढे में डाल दिया।

बताया जा रहा है कि इस दौरान मगरमच्छ घायल भी हो गया । घायल होने के बाद  मगरमच्छ को ग्रामीणों ने रस्सियों से बाध कर गंगा जी में ले जाकर छोड़ दिया गया  । मगर इस दौरान गाँव में दहशत बनी रही । मगरमच्छ को देखने के लिए ग्रामीणों की भीड़ इकठा रही वही जिले के डीएफओ  के के पांडे का कहना है की मगरमच्छ को गंगा जी में छोड़ दिया जाएगा मगर वही ग्रामीणों से भी आग्रह किया की ऐसे जानवरो के साथ बर्बरता का व्यवहार न करे ।


ज्योति मिनी
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned