करंट से युवक की मौत के बाद बवाल, ग्रामीणों ने मिर्जापुर-सोनभद्र हाइवे को किया जाम

करंट लगने से युवक की मौत से गुस्साए परिजनों व ग्रामीणों ने मृतक के शव को लेकर मिर्जापुर-सोनभद्र हाइवे को जाम कर दिया ।

By: Akhilesh Tripathi

Published: 05 Sep 2017, 05:50 PM IST

मिर्जापुर. मड़िहान थाने के राजगढ़ चौकी अन्तर्गत भवानीपुर गांव में करंट लगने से युवक की मौत के बाद मंगलवार को जमकर हंगामा हुआ। घटना से गुस्साए परिजनों व ग्रामीणों ने मृतक के शव को लेकर मिर्जापुर-सोनभद्र हाइवे पर रख कर जाम लगा दिया। इस दौरान ग्रामीण मृतक के परिजनों को मुआवजा देने की मांग कर रहे थे ।

मंगलवार की सुबह भवानीपुर निवासी बुधिराम यादव(40) पुत्र डंगर यादव को अपनी बिजली ठीक करने के लिए खम्भे पर चढ़ा दिया गया, जैसे ही बुधिराम खम्भे पर चढ़कर तार जोड़ ही रहा था कि बिजली आपूर्ति चालू होने के कारण करंट की चपेट में आने से वह गंभीर रूप से झुलस गया, आनन फानन में गंभीर हालत में परिजनों द्वारा उसे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र राजगढ़ ले जाया गया। जहां पर डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया गया।

घटना से गुस्साए परिजनों व ग्रामीणों ने मृत बुद्धिराम के शव को लेकर मिर्जापुर-सोनभद्र हाइवे पर रख कर जाम लगा दिया। इस दौरान ग्रामीण मृतक के परिजनों को मुआवजा देने की मांग कर रहे थे। जाम की सूचना पर मौके पर पहुंचे मड़िहान प्रभारी किरन कुमार सिंह ने परिजनों को समझा बुझाकर किसी तरह सड़क जाम को हटवाकर आवागमन प्रारम्भ कराया। वहीं मृतक के परिजनों ने खम्भे पर चढ़ाने वाले गांव के मुन्ना के विरूद्ध नामजद मड़िहान थाने में तहरीर देते हुए प्राथमिकी दर्ज कर गिरफ्तार करने की मांग किया । पुलिस ने मामले की गम्भीरता को देखते हुए परिजनों से तहरीर लेकर आवश्यक विधिक कार्रवाई में जुटी है ।

 

यह भी पढ़ें:

लखनऊ के बाद पूर्वांचल के इन शहरों में भी शुरू होगी मेट्रो सेवा, जानिए कब से होगी शुरूआत

 

 

 

 

वहीं इलाके के लोग आये दिन हो रही इस तरह की समस्या के लिए बिजली विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों को दोषी ठहरा रहे हैं। लोगों का कहना है कि आये दिन बिजली के सप्लाई से परेशानी हो रही है, वहीं बिजली के तारों के ढीले पड़ने की शिकायत बार बार विभागीय अधिकारियों से की जाती है, मगर विभाग के अधिकारी सुनने के बजाय लोगों की समस्याओं को टाल देते हैं, जिसकी वजह से जान पर खेल खतरा उठा कर लोग खुद ही बिजली के उपकरण ठीक करने लगते है जिससे आये दिन हादसे होते रहते है।

लोगों का कहना था कि अगर बिजली विभाग के अधिकारी और कर्मचारी समस्याओं के समाधान में तत्पर होते तो यह हादसा नही होता। ग्रामीणों के अनुसार बिजली की यह समस्या राजगढ़ ,मड़िहान,पटेहरा के इलाकों में कुछ ज्यादा ही है, जहां बिजली विभाग के कर्मचारी मनमाने तरीक़े काम करते हैं ।

 

By- Suresh Singh

 

Show More
Akhilesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned