1 जून से देश में दोबारा दौड़ेंगी ट्रेनें, इन 3 श्रेणी के लोगों को मिलेगी किराए में छूट

  • Trains Service Will Resume Soon : लॉकडाउन के चौथे चरण के खत्म होने के बाद शुरू होगा 200 ट्रेनों का संचालन
  • सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के लिए यात्रियों से कम से कम सामान साथ लेकर चलने की सलाह

By: Soma Roy

Published: 29 May 2020, 02:48 PM IST

नई दिल्ली। 1 जून से 200 यात्री ट्रेनें (Trains) पटरी पर दौड़ेंगी। 31 मई को खत्म हो रहे लॉकडाउन (Lockdown) के चौथे चरण के बाद से देश एक बार फिर रफ्तार पकड़ने की तैयारी में है। इसके लिए रेलवे ने भी कमर कस ली है। रेलवे ने कुछ अहम नियम भी बनाए हैं, जिनका हर यात्री को फॉलो करना अनिवार्य होगा। इसके अलावा रेल मंत्रालय (Railway Ministry) ने ट्रेन टिकट के किराए में दी जाने वाली छूट को लेकर भी जानकारी दी है। मंत्रायल के तहत टिकट पर तीन श्रेणियों को ही रियायत (Concession) दी जाएगी।

छूट पाने वालों में दिव्यांग, मरीज और ऐसे छात्र जो अपने पैतृक राज्य को छोड़कर अन्य राज्यों में रहकर पढ़ाई कर रहे हैं, ऐसे लोग शामिल होंगे। बुजुर्गों और महिलाओं का कोटा बरकरार रहेगा। उन्हें ट्रेन में सीट की प्राथमिकता दी जाएगी। हालांकि मौजूदा समय में उन्हें किसी भी तरह का कंसेशन नहीं दिया जाएगा। इसीलिए ऑनलाइन टिकट बुकिंग (Train Ticket) में सीनियर सिटीजन और महिलाओं को छूट के विकल्प भी हटा दिए गए हैं।

घर से खाने-पीने की चीज लाने की सलाह
वैसे तो रेलवे यात्रियों के लिए स्टेशनों पर फूड प्लाजा और जलपान गृह खोल दिए गए हैं। इसके बावजूद रेलवे यात्रियों से अपना खाना-पानी लेकर चलने की सलाह दे रहा है। नियम के मुताबिक अगर लोग काउंटर से खाना लेते भी हैं तो वे उसे वहां रखकर नहीं खा सकते हैं। इसके अलावा किसी भी गाड़ी के किराए में खाने-पीने का पैसा शामिल नहीं होगा। यात्री आईआरसीटीसी की ओर से मिलने वाले सील बंद भोजन को खरीदकर खा सकते हैं।

कम समान के साथ करें सफर
कोरोना काल में लोगों के बीच सोशल डिस्टेंसिंग बनी रहे। साथ ही संक्रमण न फैले इसके लिए रेलवे यात्रियों को कम से कम सामान लेकर चलने की सलाह दी गई है। इसके अलावा यात्रियों को चादर, तौलिया और कंबल साथ लाने को कहा है।

इन गाइडलाइन्स को भी करना होगा फॉलो
रेलवे की ओर से यात्रियों की सुरक्षा के लिए कुछ अन्य गाइडलाइन्स भी जारी किए गए हैं। जिसके तहत महज स्वस्थ्य यात्रियों को ही ट्रेन में प्रवेश और यात्रा की अनुमति होगी। केवल कन्फर्म टिकट वाले ही यात्रा कर सकेंगे। स्टेशनों पर थर्मल स्क्रीनिंग की सुविधा के लिए 90 मिनट पहले पहुंचना होगा। यात्री को कोई अनारक्षित (यूटीएस) टिकट जारी नहीं किया जाएगा।

इन शहर के लोगों को मिलेगा लाभ
ट्रेनों के दोबारा चलाए जाने का सबसे ज्यादा लाभ लखनऊ (Lucknow), वाराणसी (Varanasi), इलाहाबाद (Allahabad) , कानपुर (Kanpur), आगरा (Agra), मुरादाबाद (Moradabad) में रहने वालों को होगा। क्योंकि ज्यादातर ट्रेने इन बड़े स्टेशनों से होकर गुजरेंगी। इनमें से कई ट्रेनें बिहार और पश्चिम बंगाल की भी होंगी। भारतीय रेलवे के अनुसार ये ट्रेनें श्रमिक स्पेशल और एसी स्पेशल ट्रेनों से अलग होंगी। रेलवे ने इसे लेकर एक लिस्ट जारी की है। इसमें ट्रेनों का टाइमटेबल दिया गया है।

Show More
Soma Roy Content Writing
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned