Vande Bharat Mission का दूसरा चरण शुरू, 31 देशों से 32 हजार भारतीयों की होगी वापसी

  • विदेश में फंसे भारतीयों को स्वदेश लाने के लिए वंदे भारत मिशन का दूसरा चरण शुरू
  • 16 से 22 मई तक 31 देशों से 32 हजार से ज्यादा नागरिकों को भारत लाया जाएगा

नई दिल्ली। कोरोना वायरस ( coronavirus ) और लॉकडाउन ( Lockdown ) के चलते विदेश में फंसे भारतीय नागरिकों ( Indian citizens ) को स्वदेश लाने के लिए शनिवार को वंदे भारत मिशन ( Vande Bharat Mission ) का दूसरा चरण शुरू हो चुका है।

मिशन के दूसरे चरण में 16 से 22 मई तक 31 देशों से 32 हजार से ज्यादा नागरिकों को भारत लाया जाएगा।

आपको बता दें कि दुनिया के विभिन्न देशों में फंसे भारतीय नागरिकों की वापसी के लिए मोदी सरकार ( mODI gOVERMENT ) ने 7 मई को ‘वंदे भारत मिशन' शुरू किया था।

कितना अलग होगा Lockdown 4.0, कहां मिलेगी छूट और कहां रहेगी सख्ती?

11.png

इस क्रम में केरल के तीन हवाईअड्डों पर शनिवार को संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) से वंदे भारत मिशन के दूसरे चरण के हिस्से के रूप में 177 यात्रियों को लेकर तीन उड़ानें उतरेंगी।

पहली उड़ान दुबई से कोचीन हवाईअड्डे पर पहुंचेगी, जबकि दूसरी अबू धाबी से तिरुवनंतपुरम और अन्य कोझीकोड में आएगी।

कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम के मद्देनजर लागू लॉकडाउन के चलते विदेशों में फंसे भारतीयों को वापस लाने के लिए सरकार द्वारा वंदे भारत मिशन अभियान चलाया गया है।

जानें राज्य सरकारों से क्यों नाराज है अमित शाह का मंत्रालय? दिया यह निर्देश

oo.png

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव के अनुसार वंदे भारत मिशन के दूसरे चरण के अंतर्गत 18 देश शामिल किए गए हैं। इनमें थाईलैंड, आस्ट्रेलिया, जापान, नाईजीरिया, कजाखस्तान, यूक्रेन,बेलारूस, इटली, फ्रांस, जर्मनी, आयरलैंड, कनाडा, जॉर्जिया, तजीकिस्तान और आर्मेनिया शामिल हैं।

बता दें कि पहले चरण में तीन हजार से अधिक यात्री मध्य पूर्व से आए और इसी तरह दूसरे चरण में हवाई मार्ग से एयर इंडिया केरल के लिए 25 उड़ानें संचालित करेगी।

हेल्थ प्रोटोकॉल का पालन करते हुए यहां पहुंचने पर सभी यात्रियों की स्वस्थ्य जांच होगी।

लक्षण वाले यात्रियों को कोविड-19 अस्पताल भेज दिया जाएगा, जबकि बचे हुए अन्य यात्रियों को अनिवार्य रूप से 14 दिनों के लिए क्वारंटीन में रहना होगा।

सरकार ने प्राइवेट कंपनियों के लिए खोला अंतरिक्ष का द्वार, निजी कंपनियां भी लॉन्च कर पाएंगी सैटेलाइट

p.png

मौसम विभाग की चेतावनी— तबाही ला सकता है Cyclone Amphan, जानें तूफान से जुड़ी बड़ी बातें

उन्होंने कहा कि वे सभी हमारे अपने लोग हैं और उन्हें अपने घर लौटने का पूरा अधिकार है।

यह एक महत्वपूर्ण चरण होने जा रहा है और इसलिए सभी को अधिक सतर्क रहने की आवश्यकता के साथ ही यह भी सुनिश्चत करना होगा कि कुछ भी हल्के में नहीं लिया जाए।

 

Mohit sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned