65 फीसदी बुजुर्ग वित्तीय संकट से जूझ रहे

65 फीसदी बुजुर्ग वित्तीय संकट से जूझ रहे
older people in india

सामाजिक अनदेखी के भी शिकार। 

नई दिल्ली. देशभर में बुजुर्गों की हालत दिन प्रति दिन खराब होती जा रही है। उम्र के इस पड़ाव में वो अकेले हैं। 65 फीसदी वित्तीय संकट का सामना कर रहे हैं। एक सर्वे में इसकी तस्दीक हुई है।


- 65 फीसदी वित्तीय संबंधी परेशानियों में घिरे
- 46.4 फीसदी का कहना, संपत्ति में खास बढ़ोत्तरी नहीं
- 46.4 फीसदी इन्हीं बुजुर्गों ने कहा सरकारी योजनाएं प्रभाव नहीं
- 60 साल से अधिक उम्र हैं संकट से जूझ रहे इन बुजुर्गों की
- 35 फीसदी को नहीं मिल रही पेंशन
- 35 फीसदी ये बुजुर्ग संपत्ति से किराये के तौर पर मिल रही आय पर निर्भर
- 72 फीसदी कम पढ़े लिखे, नौकरीपेशा नहीं रहे कभी


अकेलापन मार रहा

-42 फीसदी बुजुर्ग अकेले या फिर वृद्धाश्रम में रहने को मजबूर
- 22 फीसदी परिवार के साथ तो हैं पर अनदेखी के शिकार
- 20 फीसदी मामले बुजुर्गों से जुड़े देश की अदालतों में बढ़े बीते साल
- 32 फीसदी बुजुर्गों का मानना, बेटे से बेहतर हैं बेटियां

इन राज्यों में सबसे अधिक बुरी हालत

- राजस्थान
- दिल्ली
- यूपी
- तेलंगाना
- तमिलनाडु
- सिक्किम
-मध्यप्रदेश
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned