शादी के लिए परिवार संग आजमगढ़ जा रही थी, हादसे में पिता लापता

शादी के लिए परिवार संग आजमगढ़ जा रही थी, हादसे में पिता लापता
indore patna express derailed

10 दिसंबर को शादी है। परिवार शादी के कपड़े और गहने लेकर यात्रा कर रहा था। 

कानपुर. इंदौर-पटना एक्सप्रेस के दुर्घटनाग्रस्त होने से 20 वर्षीय रूबी गुप्ता पर दुख का पहाड़ टूट पड़ा है। एक दिसंबर को उसकी शादी है। वह शादी के लिए परिवार के साथ यूपी के आजमगढ़ जा रही थी लेकिन हादसे के बाद से पिता लापता है।

रूबी अपने साथ शादी के कपड़े और गहने लेकर यात्रा कर रही थीं। वह भी उन्हें नहीं मिल रहे। रूबी के एक हाथ की हड्डी टूट गई है। वह शादी की तैयारी के लिए इंदौर से आजमगढ़ के मऊ जा रही थीं। भाई-बहनों में सबसे बड़ी रूबी के साथ उसकी दो बहनें ट्रेन में साथ यात्रा कर रही थीं। बहनों का नाम अर्चना (18 वर्षीय) और खुशी (16 वर्षीय ) है। दो भाई अभिषेक और विशाल भी साथ थे। इनके अलावा पिता राम प्रसाद गुप्ता भी थे मगर पिता हादसे के बाद से लापता है। इस परिवार के साथ उनके पारिवारिक दोस्त राम प्रमेश सिंह भी यात्रा कर रहे थे।

लोग कहते हैं, 'मुर्दाघर में पिता ढूंढो'

रूबी बताती हैं कि उन्होंने हर जगह पिता की तलाश की मगर वो नहीं मिले। बकौल रूबी, कुछ लोगों ने मुझे उन्हें अस्पताल और मुर्दाघर में खोजने को कहा है पर मुझे समझ नहीं आ रहा कि अब मैं क्या करूं। मैं नहीं जानती कि अब मेरी शादी निर्धारित कार्यक्रम के मुताबिक होगी या नहीं। अभी तो मैं पिता को ढूंढना चाहती हूं। बता दें कि रेल के पटरी से उतरने के कारणों का अभी तक पता नहीं लगाया जा सका है। 
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned