ब्रिटिश सांसद को वापस भेजने पर कांग्रेस में मतभेद, सिंघवी ने ठहराया सही, थरूर ने उठाए सवाल

  • ब्रिटिश सांसद को वापस भेजने पर सिंघवी (abhishek manu singhvi ) ने सरकार का दिया साथ
  • शशि थरूर ने सरकार के फैसले को बताया गलत
  • दिल्ली हवाई अड्डे से वापस भेज दिया गया था ब्रिटिश सांसद को

नई दिल्ली। ब्रिटिश सांसद डेबी अब्राहम्स को दिल्ली हवाई अड्डे से वापस भेजने के फैसले पर कांग्रेस बंटी हुई नजर आ रही है। एक ओर जहां कांग्रेस नेता शशि थरूर ने सरकार के इस फैसले को गलत बताया है। वहीं, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने इस मामले में सरकार का साथ दिया है।

यह भी पढ़ें-पीके का नीतीश को लेकर बड़ा बयान, पिछलग्गू ना बनने की दी नसीहत

सिंघन ने मंगलवार को ट्विटर पर लिखा, 'लेबर पार्टी की ब्रिटिश सासंद डेबी अब्राहम्स को दिल्ली एयरपोर्ट से वापस भेजने का सरकार का फैसला सही है। उन्होंने कहा कि यह करना जरूरी था, क्योंकि ब्रिटिश सासंद पाकिस्तान की प्रॉक्सी हैं। डेबी को पाकिस्तान सरकार और आईएसआई के साथ संबंध रखने के लिए जाना जाता है। भारत की संप्रभुता पर हमला करने के प्रयास को नाकाम करने की जरूरत है।'

वहीं, इससे पहले कांग्रेस नेता शशि थरूर ने ब्रिटिश सासंद डेबी अब्राहम्स को एयरपोर्ट पर रोकने सरकार के फैसले को गलत बताया था। थरूर ने ट्वीट कर लिखा था, 'अगर कश्मीर में सबकुछ ठीक है तो सरकार को आलोचकों को वहां का दौरा करने की अनुमती देनी चाहिए ताकि वे अपने डर को दूर कर सकें?'

कांग्रेस नेता ने आगे लिखा, 'केवल एमईपी और राजदूतों के प्रतिनिधिमंडलों को घुमाने की बजाए क्या इस विषय पर संसदीय समूह की मुखिया को भेजा जाना क्या फायदेमंद नहीं होता?'

गौरतलब है कि ब्रिटिश सासंद डेबी अब्राहम्स को सोमवार को भारत में आने की इजाजत नहीं दी गई। उन्हें नई दिल्ली हवाई अड्डे पर ही रोक दिया गया था। इस मामले में सरकार ने कहा कि ब्रिटिश सांसद का ई वीजा रद्द कर दिया गया है। गृह मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा था कि उन्हें इस बारे में जानकारी दी गई थी। लेकिन इसके बावजदू उन्होंने भारत आने का फैसला किया। वहीं, डेबी का कहना है कि उनका ई-वीजा अक्तूबर 2020 तक के लिए वैध है।

Congress
Show More
Shivani Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned