नोटबंदी के बाद भारतीय करेंसी का बदल गया स्वरूप, बड़े से लेकर छोटे नोटों में आया बदलाव

  • आरबीआई के अनुसार का इनका आकार अंतरराष्ट्रीय स्तर पर किया गया
  • 20 रुपये का नया नोट इसी साल अगस्त में सामने आया है

नई दिल्ली।नोटबंदी को आज पूरे तीन साल हो चुके हैं। इन तीन सालों में भारतीय रिजर्व बैंक ने प्रचलन में चल रहे सभी नोटों का स्वरूप बदलकर रख दिया है। पहले की तुलना में अब नोट छोटे हो गए हैं। आरबीआई के अनुसार का इनका आकार अंतरराष्ट्रीय स्तर पर किया गया है।

आज ही के दिन पीएम नरेंद्र मोदी ने बड़ा ऐलान कर 1000 और 500 के नोट को बंद कर दिए थे। इसके बाद से भारतीय करेंसी का स्वरूप साल दर साल बदलता चला गया। नोटबंदी के वक्त सरकार ने पुराने 500 और 1000 के नोट बदलकर 2000 और 500 रुपये का नया नोट जारी किए थे।

इन नए नोटों का आकार पहले से चल रहे नोटों की तुलना में अधिक कम था। सभी नोटों में एक खास बात यह देखी गई कि इनकी चौड़ाई तो एक समान है, लेकिन लंबाई मूल्य के अनुसार ज्यादा और कम है। इसके अलावा आरबीआई ने 200 रुपये का नया नोट जारी किया है।

जहां 2000 का नोट सबसे ज्यादा लंबा है वहीं 10 रुपये के नए नोट की लंबाई सबसे ज्यादा छोटी है। आरबीआई और सरकार ने दो हजार और पांच सौ के नोट बदल दिए, मगर 100,50,20 और 10 के नोट नहीं बदले। ये नोट पहले की तरह अभी भी चलन में हैं।

सबसे आखिर में आया 20 रुपये का नोट

आठ नवंबर 2016 को नोटबंदी के बाद 20 रुपये का नया नोट इसी साल अगस्त में सामने आया है। ये सातवीं नई करेंसी है। अब तक 10, 50, 100, 200, 500 और 2000 रुपये के नए नोट बाजार में आ चुके हैं।

10 रुपये का एक नोट 70 पैसे

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) से मिली जानकारी के अनुसार, 10 रुपये के एक नोट की छपाई में 70 पैसे का खर्च आता है। वहीं 2,000 रुपये का एक नोट 4.18 रुपये में छपता है। दोनों नोटों के मूल्य में भारी फर्क देखा गया है। इसके अलावा नोटों की छपाई वाले कागजों की कीमतों में लगातार इजाफा हो रहा है।

छपाई का खर्च लगातार बढ़ रहा

पहले 10 रुपये मूल्य के नोट की छपाई में 40 पैसे की लागत थी। मगर यह बढ़कर 70 पैसे हो चुकी है। इस कारण अब छोटे नोटों की छपाई का खर्च बड़े नोटों के मुकाबले बढ़ रहा है। सरकार ने एक,दो और पांच रुपये के नोट समय रहते बंद दिए हैं। इनकी छपाई का खर्च लगातार बढ़ रहा है।

Mohit Saxena
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned