Locust Control: पहली बार टिड्डी नियंत्रण के लिए हेलीकॉप्टर सेवा, कृषि मंत्री ने दिखाई हरी झंडी

  • टिड्डी नियंत्रण ( locust control ) को लेकर कृषि मंत्री ( Agriculture minister Narendra Singh Tomar ) ने ग्रेटर नोएडा ( greater noida news ) में दिखाई हेलीकॉप्टर को हरी झंडी।
  • टिड्डियों से जूझते देश ( locust outbreak in India ) में ब्रिटेन से आई 15 मशीनों से प्रभावित इलाकों में नियंत्रण जारी।
  • आगामी 11 जुलाई तक नियंत्रण को लेकर ( locust control team unit ) देश को 45 और मशीनें ( locust control by helicopter ) मिलेगी।

विवेक श्रीवास्तव/नई दिल्ली। पाकिस्तान से आने वाली टिड्डियों ( locust outbreak in India ) को मारने के लिए केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ( Agriculture minister Narendra Singh Tomar ) ने मंगलवार को ग्रेटर नोएडा ( greater noida news ) से टिड्डी निस्तारण की हेलीकॉप्टर सेवा की भी शुरूआत की। हेलीकॉप्टर ने ग्रेटर नोएडा से बाड़मेर के उत्तरलाई एयरबेस के लिए उड़ान भरी। अब यह पश्चिमी राजस्थान में एरियल स्प्रे के जरिए टिड्डी नियंत्रण ( locust control ) करेगा।

Coronavirus vaccine को लेकर आई सबसे बड़ी खुशखबरी, Bharat Biotech ने कहा जुलाई से शुरू करेगी...

बेल हेलीकाप्टर 250 लीटर कीटनाशक क्षमता के साथ एक उड़ान में लगभग 25 से 50 हेक्टेयर क्षेत्र को कवर कर सकता है। इस मौके पर केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री कैलाश चौधरी, स्थानीय सांसद डॉ. महेश शर्मा और कृषि सचिव संजय अग्रवाल भी मौजूद थे।

कृषि मंत्री तोमर ने कहा कि टिड्डी नियंत्रण के लिए सरकार पूरी तरह सजग है और तमाम उपाय किए गए हैं। ब्रिटेन से आईं 15 मशीनों सहित पहले से उपलब्ध अन्य सभी संसाधनों से टिड्डी नियंत्रण का कार्य तीव्र गति से चल रहा है। ब्रिटेन से 11 जुलाई तक 45 और मशीनें भी आ जाएंगी।

उन्होंने कहा कि पिछली बार ही इस बात का अंदेशा था कि इस वर्ष टिड्डी का प्रकोप गत वर्ष की तुलना में और अधिक होगा, इसलिए केंद्र सरकार पहले से ही इस तैयारी में लगी थी। केंद्र ने राज्यों को एसडीआरएफ से फंड की भी स्वीकृति प्रदान की है। साथ ही मानव संसाधन व मशीनें बढ़ाते हुए केंद्र सरकार के 200 से ज्यादा कर्मचारियों की 60 नियंत्रण टीमें बनाकर वाहनयुक्त स्प्रे उपकरणों के माध्यम से टिड्डी नियंत्रण कार्य ( locust control team unit ) किया जा रहा हैं। नियंत्रण क्षमताओं को मजबूत करने के लिए 55 अतिरिक्त वाहन खरीदे गए हैं।

तोमर ने कहा कि भारत सरकार ने ब्रिटेन से 5 एरियल स्प्रे किटों की आपूर्ति का आदेश भी जारी किया है। पहली 2 किट सितंबर-2020 में आनी संभावित हैं और शेष 3 किट पहली किट सफल होने के एक महीने बाद प्राप्त की जानी है। ये किट भारतीय वायु सेना के हेलीकॉप्टरों में लगाई जाएगी।

राष्ट्र के नाम संबोधन में पीएम मोदी ने की सबसी बड़ी घोषणा, 80 करोड़ लोगों को नवंबर तक मिलेगी यह सुविधा

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि देश में पहली बार टिड्डियों को मारने के लिए हेलीकॉप्टर ( locust control by helicopter ) का इस्तेमाल किया जा रहा है। आने वाले दिनों में वायुसेना के चार और हेलीकॉप्टर इस अभियान में लगाए जाएंगे। वायुसेना से सरकार ने टिड्डी नियंत्रण के लिए सहयोग मांगा गया था। हालांकि हेलीकॉप्टर में लगने वाली मशीन की जरूरत है और ऑर्डर दिया जा चुका है।

कृषि मंत्री ने बताया कि कि करीब 28 वर्षों बाद बीते साल भारत में टिड्डियों का दल आया था। हालांकि राजस्थान, गुजरात के कुछ जिलों के अलावा बाकी राज्यों तक इसका कोई ज्यादा प्रकोप नहीं देखा गया। इसके चलते उस वक्त प्रभावी ढंग से नियंत्रण हो पाया।

अमित कुमार बाजपेयी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned