डेल्टा प्लस वेरिएंट के खिलाफ जंग में एम्स डायरेक्टर डॉ. गुलेरिया ने बताए 3 बड़े हथियार, स्कूल खोलने पर दिया जोर

AIIMS डायरेक्टर डॉ. रणदीप गुलेरिया ने डेल्टा प्लस वेरिएंट के खिलाफ जंग में बताए तीन महत्वपूर्ण हथियार, बोले- कोरोना की तीसरी लहर से लड़ने में भी मिलेगी मदद

नई दिल्ली

Updated: June 24, 2021 10:19:13 am

नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस ( Coronavirus ) की तीसरी लहर की आहट के बीच डेल्ट प्लस वेरिएंट ( Delta plus Variant ) ने सबकी चिंता बढ़ा दी है। देश में लगातार इस वेरिएंट के मामले बढ़ रहे हैं। यही नहीं दुनियाभर में तेजी से डेल्ट प्लस वेरिएंट फैल रहा है।
इस बीच भारत में कोरोना वायरस के डेल्टा प्लस वेरिएंट के बढ़ते खतरे से निपटने के लिए दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) के निदेशक डॉ रणदीप गुलेरिया (Dr. Randeep Guleria) ने तीन अहम हथियार बताए हैं। इन हथियारों के जरिए इस वेरिएंट से जंग लड़ने में मजबूती मिलेगी।
यह भी पढ़ेँः सितंबर में बच्चों के लिए कोविड वैक्सीन को मिल सकती है मंजूरी: AIIMS डायरेक्टर डॉ. गुलेरिया

इन तीन हथियारों से लड़ना होगी डेल्टा प्लस वेरिएंट से जंग
डॉ. गुलेरिया के मुताबिक कोरोना के डेल्टा प्लस वेरिएंट से जंग में लॉकडाउन, वैक्सीनेशन और कोविड प्रोटोकॉल जैसे तीन बड़े हथियार मददगार साबित हो सकते हैं।
सुरक्षा नियमों में समझौते की गुंजाइश नहीं
डॉ गुलेरिया ने कहा, फिलहाल ये कहना मुश्किल है कि डेल्टा प्लस वेरिएंट भारत में कोई समस्या पैदा कर रहा है, लेकिन जिस तरह दुनियाभर में ये वेरिएंट पैर पसार रहा है, उसे देखते हुए हम सुरक्षा नियमों से समझौता नहीं कर सकते हैं।
इन बातों पर रखना होगा फोकस
एम्स डायरेक्टर ने कहा, कोरोना वायरस को लेकर दर्ज किए गए उन सभी मामलों पर पैनी नजर रखने की जरूरत है, जहां इसमें किसी भी तरह की बढ़ोतरी देखी जाती है।
हमें अभी से तीसरी लहर से बचने के लिए उपाय करने और सतर्क रहने की जरूरत है। इसके साथ ही हमें उन सभी कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करना होगा जो हम अभी तक करते आए हैं। हमें आक्रामक तरीके जांच और उसे ट्रैक करने की जरूरत है, ताकि अधिक-से अधिक लोगों को वैक्सीन लगाई जा सके।
डॉ. गुलेरिया ने कहा कि कुछ बातों का सख्ती से पालन किया जाए तो डेल्ट प्लस वेरिएंट के खतरे के साथ तीसरी लहर से भी बचा जा सकता है।

यह भी पढ़ेँः Patrika Explainer: भारत में तेजी से बढ़ता कोरोना टीकाकरण और तीसरी लहर की तैयारी की हकीकत
स्कूल खोलने के लिए बने रणनीति
एम्स डायरेक्टर डॉ. रणदीप गुलेरिया ने स्कूल खोले जाने पर जोर दिया है। उन्होंने कहा कि उन्‍होंने बताया कि कुछ अधिकारियों ने अभी से स्कूल खोलने पर विचार करने की जरूरत का मुद्दा उठाया है. मुझे निजी तौर से लगता है कि हमें स्कूल खोलने की आवश्यकता है।
खास तौर पर उन लोगों के लिए जो ऑनलाइन क्लास का हिस्सा नहीं बन सकते हैं उनके लिए शिक्षा बड़ी चुनौती बनती जा रही है। उन्होंने कहा, स्कूलों को खोलने के लिए एक रणनीति भी तय करने की जरूरत है। स्कूलों को अलग-अलग स्तर पर खोला जाना चाहिए।
होम /विविध भारत

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Follow Us

Download Partika Apps

Group Sites

Trending Stories

Monsoon : राजस्थान में 3 अगस्त से बारिश का नया सिस्टम, पूरे प्रदेश में होगी झमाझमNSA डोभाल की मौजूदगी में बोले मुस्लिम धर्मगुरु- 'सर तन से जुदा' हमारा नारा नहीं, PFI पर प्रतिबंध की बनी सहमतिकीमत 4.63 लाख रुपये से शुरू और देती हैं 26Km का माइलेज! बड़ी फैमिली के परफेक्ट हैं ये सस्ती 7-सीटर MPV कारेंराजस्थान में भारी बारिश का दौर जारी, स्कूलों की तीन दिन की छुट्टी, आज इन जिलों में झमाझम की चेतावनीWeather Update: राजस्थान में झमाझम बारिश को लेकर अब आई ये खबरराजस्थान में आज यहां होगी बारिश, एक सप्ताह तक के लिए बदलेगा मौसमएमपी में 220 करोड़ से बनेगा 62 किमी लंबा बायपास, कम हो जाएगी कई शहरों की दूरी, जारी हो गए टेंडरसरकारी नौकरी लगवा देंगे कहकर 10 युवाओं को लगाई 75 लाख रुपए की चपत, 2 गिरफ्तार

बड़ी खबरें

पाकिस्तानी नौसेना का वॉरशिप भारतीय इलाके में घुसा, फिर भारतीय एयरक्राफ्ट ने सिखाया सबकNITI Aayog Meeting: NITI आयोग की बैठक में हुई शिक्षा नीति समेत कई मुद्दों पर चर्चा, जानें क्या रहा खासBihar News: RCP सिंह के इस्तीफे के बाद गरजे अजय आलोक, कहा - 'ये नीतीश कुमार नहीं, बल्कि नाश कुमार है बिहार के CM'ISRO का SSLV-D1 की लॉन्चिंग हुई फेल, कहा- सैटेलाइट अब किसी काम का नहींगुजरात विधानसभा चुनाव से पहले अरविंद केजरीवाल ने आदिवासियों से किए 6 वादे, कहा- ट्राईबल एडवाइजरी कमिटी का इसी समाज से होगा चेयरमैनदिल्ली रोहतक रेलवे लाइन पर मालगाड़ी के 8 डिब्बे पटरी से उतरे, रेलवे ट्रैक जामजम्मू-कश्मीर : श्रद्धालुओं के आगमन में भारी गिरावट के बीच अमरनाथ यात्रा स्थगितPM मोदी की पाकिस्तानी बहन जो 27 साल से बांध रही राखी, इस बार 2024 के आम चुनावों के लिए दी शुभकामनाएं
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.