अनैतिक आचरण और भ्रष्टाचार पर कड़ी कार्रवाई से पीछे नहीं हटेगी सेना: जनरल बिपिन रावत

अनैतिक आचरण और भ्रष्टाचार पर कड़ी कार्रवाई से पीछे नहीं हटेगी सेना: जनरल बिपिन रावत

सेना प्रमुख ने दोहराया कि अनैतिक आचरण और भ्रष्टाचार के मामलों में सेना कड़ी कार्रवाई से पीछे नहीं हटेगी और अगर मेजर लितुल गोगोई अनैतिक आचरण के दोषी पाए जाते हैं तो उन्हें बख्शा नहीं जाएगा।

नई दिल्ली। अनैतिक आचरण के आरोपों का सामना कर रहे मेजर लितुल गोगोई पर एकबार फिर सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत का बयान आया है। सेना प्रमुख ने दोहराया कि अनैतिक आचरण और भ्रष्टाचार के मामलों में सेना कड़ी कार्रवाई से पीछे नहीं हटेगी और अगर मेजर लितुल गोगोई अनैतिक आचरण के दोषी पाए जाते हैं तो उन्हें बख्शा नहीं जाएगा। आपको बता दें कि कोर्ट ने गोगाई को ड्यूटी के समय ऑपरेशनल एरिया से अलग होने का दोषी पाया है। यही नहीं मेजर को कोर्ट ने निर्देशों के विपरीत लोकल सिविलियन्स से से मेल-जोल बढ़ाने का भी दोषी पाया गया है।

कड़ी कार्रवाई से पीछे नहीं हटेगी सेना: जनरल बिपिन रावत

जनरल रावत ने मंगलवार को एक कार्यक्रम के बाद लितुल गोगोई के बारे में पूछे गए सवाल पर कहा कि पहले भी मैं कह चुका हूं कि अनैतिक आचरण और भ्रष्टाचार के मामलों से सख्ती से निपटा जायेगा। उन्होंने कहा कि इस मामले में कोर्ट ऑफ इंक्वायरी ने मेजर गोगोई के खिलाफ उनके दोष के हिसाब से कार्रवाई करने की सिफारिश की है। सेना प्रमुख ने कहा कि मेजर गोगोई के खिलाफ उनके दोष के आधार पर कार्रवाई की जाएगी। यदि वह अनैतिक आचरण के दोषी पाये जाते हैं तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी और अगर वह अन्य अपराध के दोषी पाए जाते हैं तो उन्हें उस अपराध के आधार पर दंड दिया जाएगा।

ड्यूटी छोड़कर युवती के साथ देखे गए थे मेजर गोगोई

बता दें कि मेजर गोगोई को गत 23 मई को श्रीनगर के ममता होटल से उस समय हिरासत में लिया गया था जब वह एक स्थानीय युवती के साथ होटल में प्रवेश करना चाहते थे। पुलिस ने उन्हें पूछताछ के बाद छोड़ दिया था हालाकि सेना ने इस मामले की जांच के लिए कोर्ट ऑफ इंक्वायरी का गठन किया था। कोर्ट ऑफ इंक्वायरी ने पिछले महीने ही उन्हें ऑपरेशन क्षेत्र में ड्यूटी से नदारत रहने तथा स्थानीय लोगों के साथ मेल जोल बढ़ाने का दोषी पाया था। उनके खिलाफ कार्रवाई करने की सिफारिश की गई थी।

जीप की बोनट पर कश्मीरी युवक को बांधकर चर्चा में आए थे

मेजर गोगोई अप्रैल 2017 में उस समय भी खासे चर्चा में रहे थे जब उन्होंने श्रीनगर लोकसभा उप चुनाव में ड्यूटी के लिए जा रहे चुनावकर्मियों को स्थानीय लोगों के पथराव से बचाने के लिए एक स्थानीय युवक को अपनी जीप के आगे बोनट पर बांध दिया था।

Ad Block is Banned