Corona के साथ-साथ Assam में बाढ़ का कहर , CM सोनोवाल ने कहा- 70 लाख लोग प्रभावित

  • Assam में एक साथ दोहरी मार, कोरोना के साथ-साथ बाढ़ का कहर
  • CM Sarbananda Sonowal ने कहा- 70 लाख लोग प्रभावित

नई दिल्ली। एक तरफ पूरा देश कोरोना वायरस ( coronavirus in India ) से जूझ रहा है। वहीं, दूसरी तरफ पूर्वोत्तर भारत ( North India ) के राज्य असम ( Flood in Assam ) पर दोहरी मार पड़ी है। राज्य में कोरोना ( corona in Assam ) के साथ बाढ़ ( Flood in Assam ) का भी कहर जारी है। राज्य में भारी बारिश के कारण स्थिति बहुत भयावह हो गई है और बाढ़ के कारण तकरीबन 70 लाख लोग प्रभावित हो चुके हैं।

बाढ़ से 70 लाख लोग प्रभावित- CM

जानकारी के मुताबिक, असम में बाढ़ ( Flood in Assam ) का कहर लागातार बढ़ता ही जा रहा है। मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ( CM Sarbananda Sonowal ) ने कहा कि बाढ़ के कारण राज्य में 70 लाख प्रभावित हुए हैं। उन्होंने कहा कि इंसान के साथ जानवर भी इस बाढ़ की चपेट में आए हैं। बाढ़ प्रभावित इलाकों में फंसे लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा रहा है। वहीं, काफी संख्या में लोगों राहत कैंप ( Relief Camps ) में भी लाया जा रहा है। यहां आपको बता दें कि 33 में से 24 जिलों में बाढ़ ( Flood in Assam ) का कहर जारी है। इतना ही नहीं बाढ़ के कारण राज्य में अब तक 80 लोगों की मौत हो चुकी है।

PM Modi ने की CM से बात

एक तरफ लोग कोरोना वायरस ( COVId-19 ) से जूझ रहे हैं। वहीं, दूसरी तरफ असम ( corona and Flood in Assam ) में बाढ़ के कारण तबाही मची है। मुख्यमंत्री का कहना है कि असम के लोग एक साथ-साथ दो लड़ाई लड रहे हैं। उन्होंने कहा कि केन्द्र और राज्य सरकार हरसभंव लोगों की मदद कर रही है। इससे पहले रविवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ( PM Narendra Modi ) ने कोरोना और बाढ़ को लेकर असम के सीएम सर्बानंद सोनोवाल से फोन पर बात की और हालात का जायजा लिया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मुख्यमंत्री से कहा कि केन्द्र पूरे मामले पर काफी नजदीक से नजर बनाए हुए है। मुख्यमंत्री कार्यालय ने कहा कि प्रधानमंत्री ने राज्य को हरसंभव सहायता का आश्वासन दिया। साथ ही पीएम मोदी ( PM Modi ) ने राज्य सरकार द्वारा बाढ़ प्रभावित लोगों और कोरोना संक्रमितों के इलाज के लिए उठाए गए कदमों की जानकारी भी ली।

कई नदियां खतरे के निशान के ऊपर

CWC के मुताबिक, राज्य की ज्यादातर नदियां ( Rivers ) खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं। ब्रह्मपुत्र, कोपिली, बेकी, संकोश, धनसिरी जैसी नदियों में पानी का स्तर काफी ऊपर आ गया है। रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में SDRF की टीम, जिला प्रशासन ( District Administrations ) और लोकल ने तकरीबन 366 लोगों का रेस्क्यू किया है। ASDMA का कहना है कि 50, 000 हजार लोगों को बाढ़ से बचा कर शेल्टर में रखा गया है, जबकि 521 लोगों को राहत कैंप में रखा गया है। वहीं, बाढ़ के कारण पार्कों का हाल भी बेहाल है। कई जानवरों की मौत भी हो चुकी है, जबकि कइयों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है।

Kaushlendra Pathak
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned