दिवाली से पहले रेड जोन में पहुंचा दिल्ली का वायु प्रदूषण, डीजल जेनरेटर पर बैन

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में हवा की गुणवत्ता खराब होकर खतरनाक स्तर पर पहुंच चुकी है। दिल्ली में हवा की गुणवत्ता रेड जोन में प्रवेश कर चुकी है।

नई दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी में हवा की गुणवत्ता खराब होकर खतरनाक स्तर पर पहुंच चुकी है। इसे देखते हुए पर्यावरण प्रदूषण रोकथाम एवं नियंत्रण प्राधिकरण (ईपीसीए) ने राजधानी में डीजल से चलने वाले सभी जेनरेटर्स पर प्रतिबंध लगा दिया है। फिलहाल मेट्रो और अस्पतालों को इस प्रतिबंध से छूट दी गई है।


बदरपुर पावर प्लांट बंद
ईपीसीए के चेयरमैन ने मंगलवार को डीजल जेनरेटर पर बैन के फैसले का ऐलान किया। उन्होंने बताया कि दिल्ली में हवा की गुणवत्ता रेड जोन में प्रवेश कर चुकी है। वायु प्रदूषण को देखते हुए बदरपुर थर्मल पावर प्लांट को भी बंद कर दिया गया है।


प्रदूषण रोकने के लिए पार्किंग शुल्क बढ़ाया
वहीं आने वाले दिनों में पार्किंग शुल्क में 4 गुना तक इजाफा हो सकता है। ईपीसीए ने कहा कि जाड़े के मौसम में वायु प्रदूषण की गंभीरता को देखते हुए अगर जरूरी हुआ तो ग्रेडेड रिस्पॉन्स ऐक्शन प्लान के तहत कई तरह के कदम उठाए जाएंगे।

दिल्ली में मेडिकल इमरजेंसी के हालात
इससे पहले देश के सर्वोच्च प्रतिष्ठित अस्पताल ऐम्स के निदेशक डॉक्टर रणदीप गुलेरिया ने कहा कि दिल्ली की आबो-हवा लगातार खराब होती जा रही है, लेकिन दुर्भाग्य का विषय है कि हम अभी भी इसकी गंभीरता को नहीं समझ रहे हैं। दिवाली से पहले दिल्ली की हवा सांस लेने लायक भी नहीं है। अभी हवा की जो स्थिति है उसके हिसाब से दिल्ली में मेडिकल इमरजेंसी के हालात हैं। अगर इसे रोकने के लिए हम समय रहते जागरूक नहीं हुए और सरकारी स्तर पर हमने इसे प्राथमिकता में नहीं लिया तो आने वाले समय में दिल्ली रहने के काबिल नहीं रह जाएगी।


पटाखे चले तो बढ़ेगा प्रदूषण
सुप्रीम कोर्ट ने पटाखों की बिक्री पर प्रतिबंध अवश्य लगा रखा है, लेकिन इसे चलाने पर कोई प्रतिबंध नहीं लगा है। यानी लोग कहीं से पटाखे लाकर अवश्य ही चला सकते हैं। ऐसे में इस बात की पूरी आशंका है कि लोग आस-पास के क्षेत्रों से पटाखे ले आएं और दिवाली में चलाएं। अगर ऐसा होता है तो अभी दिल्ली का प्रदूषण और बढऩा तय है। वहीं पंजाब, उत्तर प्रदेश और अन्य राज्यों के किसानों के द्वारा खेतों में पराली जलाए जाने की घटना पर भी कोई कारगर प्रतिबंध नहीं लग पाया है। ऐसे में आने वाले समय में दिल्ली की तबियत खराब हो सकती है

Chandra Prakash Content Writing
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned