भारत रत्न सचिन तेंदुलकर बने PayTm के ब्रांड एंबेसडर, लोगों में भारी आक्रोश

HIGHLIGHTS

  • सचिन को वित्तीय प्रौद्योगिकी क्षेत्र की कंपनी पेटीएम (PayTm) की अनुषंगी पेटीएम फर्स्ट गेम्स (Paytm First Games, PFG) ने अपना ब्रांड एंबेसडर बनाया है।
  • व्‍यापारियों के संगठन कन्‍फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (CAIT) ने इस संबंध में सचिन तेंदुलकर को एक पत्र लिखकर कड़ी आपत्ति जताई है।

नई दिल्ली। क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले और भारत के सर्वोच्च सम्मान 'भारत रत्न' से सम्मानित सचिन तेंदुलकर ( Sachin Tendulkar ) अब पेटीएम कंपनी के लिए विज्ञापन करेंगे। यानी कि सचिन तेंदुलकर पेटीएम के ब्रांड एंबेसडर बन गए हैं।

सचिन को वित्तीय प्रौद्योगिकी क्षेत्र की कंपनी पेटीएम (PayTm) की अनुषंगी पेटीएम फर्स्ट गेम्स (Paytm First Games, PFG) ने अपना ब्रांड एंबेसडर बनाया है। सचिन के इस फैसले को लेकर जमकर आलोचना की जा रही है। लोग मांग कर रहे हैं कि सचिन अपने फैसले पर फिर से विचार करे।

जिंदगी की लड़ाई लड़ रहे 'अशरफ चाचा' की मदद को आगे आए Sachin Tendulkar, यह दिग्गज भी सहायता को तैयार

व्‍यापारियों के संगठन कन्‍फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (CAIT) ने इस संबंध में सचिन तेंदुलकर को एक पत्र लिखकर कड़ी आपत्ति जताई है। संगठन का कहना है कि सचिन के इस फैसले से पूरे देश में आक्रोश है। संगठन के राष्‍ट्रीय महासचिव प्रवीण खंडेलवाल ने कहा कि जिस कंपनी ने उन्‍हें अपना ब्रॉड एंबेसडर बनाया है, उसमें चीनी कंपनी अलीबाबा का निवेश है। ऐसे में सचिन को अपने फैसले पर फिर से विचार करना चाहिए।

कंपनी ने सचिन को इसलिए बनाया ब्रांड एंबेसडर

आपको बता दें कि कंपनी ने चालू वित्त वर्ष में तेजी से बढ़ते ऑनलाइन गेमिंग योजनाओं में 300 करोड़ रुपये का निवेश करने की योजना बनाई है। इसको लेकर मंगलवार को पेटीएम ने एक बयान जारी करते हुए बताया कि चूंकि सचिन तेंदुलकर क्रिकेट प्रेमियों के बीच काफी लोकप्रिय हैं और भारत में करोड़ों लोग उन्हें पसंद करते हैं। ऐसे में वे देश में रोमांचक फंतासी खेलों के बारे में जागरूकता बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं।

कंपनी ने कहा कि न सिर्फ फंतासी क्रिकेट, बल्कि वे पीएफजी को लोगों के बीच अन्य खेलों मसलन कबड्डी, फुटबॉल और बास्केटबॉल को भी लोकप्रिय बनाने में काफी मदद कर सकते हैं।

Sachin Tendulkar ने बताया, क्या देखा MS Dhoni में कि BCCI से कर डाली कप्तान बनाने की सिफारिश

पीएफजी के मुख्य परिचालन अधिकारी (COO) सुधांशु गुप्ता ने कहा कि भारत में क्रिकेट को धर्म की तरह पूजा जाता है। करोड़ों लोग क्रिकेटरों से प्रभावित होते हैं। ऐसे में फंतासी खेलों से किसी क्रिकेटर के जुड़ने से उसे एक नई ऊंचाई तक ले जाया जा सकता है। सचिन की भागीदारी से इस खेल के जरिए कंपनी की पहुंच छोटे-छोटे गांवों और कस्बों तक होगी।

इससे पहले जब भारत सरकार ने कई चीनी एप्स पर बैन लगाया तो PayTm को लेकर भी कई तरह के सवाल खड़े हुए, क्योंकि इसमें चीनी कंपनी अलीबाबा का हिस्सेदारी है। ऐसे में अब एक बार फिर से PayTm के साथ सचिन तेंदुलकर के जुड़ने से लोगों में नाराजगी है।

Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned