BIG BREAKING : भारत में कोरोना वायरस की प्रभावी वैक्सीन आने में कोई देरी नहीं

कोरोना रोधी प्रभावी टीका ईजाद करने के लिए पूरी दुनिया के वैज्ञानिक जुटे हुए हैं। ऐसे में सरकार टीके के समय पर उपलब्ध होने के लिए भरोसा दिया है। कहा है कि देश में कोरोना वायरस के स्वरूप में कोई बड़ा बदलाव नहीं आया है। इसलिए वैक्सीन समय पर उपलब्ध होगी।

कोरोना के जीनोम को लेकर भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आइसीएमआर) व जैव प्रौद्योगिकी विभाग के अध्ययन में यह बात सामने आयी है। यह बात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में समीक्षा बैठक के बाद प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) ने एक बयान में यह जानकारी दी। कहा कि देश में तीन टीके विकास के उन्नत चरणों में हैं। इसमें से दो टीके दूसरे चरण और एक टीका तीसरे चरण में है।

तो भी वैक्सीन पर असर नहीं
विशेषज्ञों ने इससे पहले कोरोना के बदलते स्वरूप के चलते प्रभावी वैक्सीन के विकसित होने में चिंता जाहिर की थी। लेकिन, हाल ही दुनिया में हुए कुछ अध्ययनों में पाया गया कि कोरोना के स्वरूप में परिवर्तन से कोविड 19 के लिए विकसित किए जा रही वैक्सीन पर असर नहीं पड़ेगा।

आइसीएमआर का एक और अध्ययन जल्द
पीएमओ ने कहा है कि आइसीएमआर व बायोटेक्नोलॉजी विभाग ने सार्स-कोव-2 के जीनोम पर दो अध्ययनों में पाया कि यह वायरस आनुवांशिक रूप से स्थिर है। इसके स्वरूप में ज्यादा बड़ा बदलाव नहीं आया है। हालांकि वैक्सीन के विकसित करने में आइसीएमआर ने कोरोना के स्ट्रेन में हुए बदलाव को सूचीबद्ध किया है। इसका परिणाम भी अक्टूबर के अंत कर सामने आ जाएगा।

pm modi
Ramesh Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned