सावधान ! पीएम के आर्थिक पैकेज के नाम पर हो रहा बड़ा फर्जीवाड़ा, कोई फार्म भरने से पहले जान लें ये जानकारी

Highlights

- PM Modi ने लॉकडाउन ( Lockdown in India ) से प्रभावित लोगों एवं उद्योगों के लिए एक विशेष आर्थिक पैकेज ( Economic Stimulus Package) की मंगलवार को घोषणा की थी

-अब सोशल मीडिया ( Social media ) में इसे लेकर तरह तरह के अफवाहें ( Rumor ) व भ्रम फैलाए जा रहे हैं

-वायरल हो रही खबरों के मुताबिक सोशल मीडिया में कुछ शरारती तत्व प्रधानमंत्री योजना ( Pradhan Mantri Yojana 2020 ) के तहत प्रत्येक व्यक्ति को 15 हजार रुपये देने की बात फैला रहे हैं

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ( PM Narendra Modi ) ने कोरोना वायरस ( coronavirus Outbreak ) संक्रमण को रोकने के लिए लागू लॉकडाउन ( Lockdown in India ) से प्रभावित लोगों एवं उद्योगों के लिए एक विशेष आर्थिक पैकेज ( Economic Stimulus Package) की मंगलवार को घोषणा की थी। उन्होंने कहा था कि देश को आत्मनिर्भर ( aatm nirbhar ) बनाने के लिए वह इस पैकेज (Package ) का एलान कर रहे हैं। अब सोशल मीडिया ( Social media ) में इसे लेकर तरह तरह के अफवाहें ( Rumor ) व भ्रम फैलाए जा रहे हैं। वायरल हो रही खबरों के मुताबिक सोशल मीडिया में कुछ शरारती तत्व प्रधानमंत्री योजना ( Pradhan Mantri Yojana 2020 ) के तहत प्रत्येक व्यक्ति को 15 हजार रुपये देने की बात फैला रहे हैं। इसके लिए फर्जीवाड़ा ( Fraud) किए जाने कर बात भी सामने आई है। फर्जी वेबसाइट ( Fake Website) के लिंक भेजकर लोगों से डाटा इकट्ठा किया जा रहा है और इसके माध्यम से पैसे भेजने की बात की जा रही है। इसके लिए हम सभी को सावधान रहने की जरूरत है क्योंकि सरकार ने अभी तक ऐसा कोई भी एलान नहीं किया है। पुलिस ने इसकी शिकायत मिलने के बाद जांच शुरू की है।


यह मामला लुधियाना में उजागर हुआ है। मामला सामने आते ही पुलिस के होश उड़ गए। पुलिस कमिश्नर ने इस मामले पर साइबर सेल को जांच करने के आदेश दे दिए हैं।


ट्वीट से हुआ मामला उजागर

मीनाक्षी चौधरी नाम की महिला ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि अब कुछ लोगों की तरफ से लिंक भेजकर कहा जा रहा है कि यह सरकारी वेबसाइट है, सरकार 15 हजार रुपये देने जा रही है। उनके परिवार ने इसमें दिए फार्म को भर दिया। पुलिस को इस वेबसाइट की जांच करवानी चाहिए और इसके संचालक को तलाश करना चाहिए। उन्होंने ट्विटर हेंडल पर वेबसाइट का लिंक भी शेयर किया है। मीनाक्षी ने इसे लुधियाना पुलिस के ट्विटर पर भी टैग करके सीपी से इसकी जांच की मांग की है। वहीं सीपी ने रिप्लाई में कहा है कि यह सरासर गलत है और इसकी जांच करवाएंगे।

एेसे फैल रहा है फर्जीवाड़ा

ऑनलाइन ठगी का मामला लगातार सामने आ रहा है। प्रधानमंत्री के विज्ञापन के साथ मांगी जा रही जानकारी के साथ इन दिनों ए‍क लिंक लोगों को भेजा जा रहा है। इसे खोलने पर इस पर नाम, पता और मोबाइल नंबर मांगा जा रहा है। यह जानकारी तभी सबमिट होगी, यदि इसे आगे वाट्सएप पर पांच लोगों को भेजा जाए। इस वेब पेज पर प्रधानमंत्री की फोटो लगा विज्ञापन भी दिया गया है। इसमें बड़े अक्षरों में 15000 रुपये के नीचे सब का साथ सब का विकास स्लोगन भी लिखा गया है। इसके अलावा प्रधानमंत्री योजना-2020का जिक्र भी किया गया है।

Ruchi Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned