वित्त मंत्री ने 6 लाख करोड़ के खर्च का दिया ब्यौरा, जानिए प्रेस कॉन्फ्रेंस की बड़ी बातें

- निर्मला सीतारमण ( Nirmala Sitharaman ) ने बुधवार को 6 लाख करोड़ रुपए केे खर्च का ब्यौरा दिया

- पीएम मोदी ( PM Modi ) ने देश को दिया था 20 लाख करोड़ रुपए का आर्थिक पैकेज

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ( Prime Minister Narendra Modi ) की तरफ से 20 लाख करोड़ रुपए के आर्थिक पैकेज के ऐलान के बाद वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ( Nirmala Sitharaman ) ने बुधवार को इस पैकेज की विस्तार से जानकारी दी। निर्मला सीतारमण ने अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में इस पैकेज का किस तरह इस्तेमाल किया जाएगा, उसकी जानकारी दी। उन्होंने आज पहली पीसी में करीब 6 लाख करोड़ रुपए की जानकारी देश की जनता को बताई। ये सिलसिला आने वाले कुछ दिनों तक जारी रहेगा, उसमें बताया जाएगा कि कितना पैसा कहां खर्च किया जाएगा।

वित्त मंत्री की घोषणा की बड़ी बातें:-

- निर्मला सीतारमण ने MSME को लेकर 6 बड़े ऐलान किए। इसमें एमएसएमई और बिजनस के लिए 3 लाख करोड़ रुपये के लिए कोलैटरल फ्री 100% ऑटोमैटिक लोन, एमएसएमई के लिए 20 हजार करोड़ रुपये का सबॉर्डिनेट डेट, एमएसएमई फंड ऑफ फंड्स के जरिए 50 हजार करोड़ रुपये का इक्विटी इन्फ्यूजन, MSME की परिभाषा बदली गई, 200 करोड़ रुपये के लिए ग्लोबल टेंडर की अनुमति नहीं, बिजनेस और वर्करों को तीन महीनों के लिए 2,500 करोड़ रुपये ईपीएफ सपोर्ट मिलेगा।

-सरकार ने बिजली वितरण कंपनियों (डिस्कॉम) के लिए 90 हजार करोड़ रुपये की घोषणा की है।

-एनबीएफसी ( Non Banking Financial Companies ) को आंशिक क्रेडिट गारंटी योजना के जरिये 45,000 करोड़ रुपये की नकदी उपलब्ध करायी जाएगी।

- वेतन को छोड़ कर दूसरे प्रकार के भुगतान पर टीडीएस, टीसीएस की दर 31 मार्च 2021 तक 25 प्रतिशत कम की गई, इससे इकाइयों के हाथ में खर्च करने को 50,000 करोड़ रुपये की राशि मुक्त होगी

- गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (NBFCs), आवास वित्त कंपनियों (HFCs) और एमएफआई (MFIs) के लिये 30,000 करोड़ रुपये के धन के उधार की सुविधा।

- कर्मचारी भविष्य निधि ( ईपीएफ ) कर्मचारी और नियोक्ता के अंशदान के लिए सरकार 2,500 करोड़ रुपये देगी, यह प्रोत्साहन योजना अगस्त तक के लिये बढ़ायी गयी।

- लॉकडाउन के दौरान करदाताओं को 18,000 करोड़ रुपये का रिफंड किया गया, 14 लाख करदाताओं को इसका लाभ मिला।

MSME के लिए प्रमुख ऐलान

1. MSME को क्रेडिट फ्री लोन दिया जाएगा। इसमें 3 लाख करोड़ रुपए तक का लोन बिना गारंटी के मिलेगा

2. 45 लाख एमएसएमई को इससे फायदा मिलेगा।

3. MSME को एक साल तक EMI नहीं चुकानी होगी

4. जो लोन दिया जाएगा उसे चार सालों में चुकाना है। यह 31 अक्टूबर 2020 तक वैलिड है।

5. सरकार GSTMSE को 4 हजार करोड़ रुपये का मदद देगी। GSTMSE बैंक को क्रेडट गारंटी देंगे।

6. फंड ऑफ फंड्स के जरिए MSMEs के लिए 50 हजार करोड़ रुपये इक्विटी इंफ्यूजन किया जाएगा।

Nirmala Sitharaman वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण
Show More
Kapil Tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned