सरकार की योजना से 90 दिन में सामने आया 3700 करोड़ का कालाधन

लगभग 300 लोगों ने एनडीए सरकार की उस योजना के तहत देश और विदेश में रखी अपनी सम्पत्ति का खुलासा

नई दिल्ली। लगभग 300 लोगों ने ही एनडीए सरकार की उस योजना के तहत देश और विदेश में रखी अपनी सम्पत्ति का खुलासा किया है जिसके तहत सरकार ने दिल्ली और अन्य शहरों में अनुपालन खिड़कियां बनाकर आदेश दिया था कि कालाधन रखने वाले लोग तय समयसीमा के तहत अपनी सम्पत्ति का ऐलान करें। एक सरकारी अधिकारी के अनुसार केवल 3,000 करोड़ रुपये के कालेधन का ही खुलासा हो सका है।

हालांकि सरकार की ओर से इसकी पुष्ट जानकारी नहीं मिल सकी है कि कितने लोगों ने अपनी अवैध संपत्ति का खुलासा किया है। 30 सितम्बर आखिरी तारीख थी। खबर के अनुसार योजना के तहत एक व्यक्ति ने अकेले 200 करोड़ रुपए की सम्पत्ति का खुलासा किया है। यह सबसे बड़ी राशि है। विशेषज्ञों का कहना है कि सरकार की ओर से 60 फीसदी टैक्स लगाए जाने की वजह से अधिकतर लोगों ने अपनी अघोषित सम्पत्ति का खुलासा नहीं किया है।

सेन्ट्रल बोर्ड आफ डायरेक्ट टेक्सस ने वरिष्ठ आयकर अधिकारियों की देखरेख में विशेष खिड़कियां बनाई थीं ताकि घोषणाओं को गोपनीय रखा जा सके। योजना को 'अनुपालन खिड़कीÓ योजना नाम दिया गया था। विशेषज्ञों का यह भी कहना है कि 'अनुपालन खिड़कीÓ योजना पूरी तरह फ्लॉप साबित हुई है। एनडीए सरकार को उम्मीद थी कि योजना के आखिरी दिनों में लोग अपनी सम्पत्ति का खुलासा करेंगे, लेकिन ऐसा नहीं हुआ।
शक्ति सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned