CAA: सुप्रीम कोर्ट में दायर याचिकाओं पर सुनवाई आज, शाहीन बाग पर आ सकता है फैसला

सुप्रीम कोर्ट में दायर याचिकाओं में नोएडा जाने वाली एक प्रमुख सड़क को रोक दिए जाने का मसला उठाया गया है।

नई दिल्ली। दिल्ली के शाहीन बाग में नागरिकता संशोधन कानून ( सीएए ) और एनआरसी के खिलाफ लगभग दो महीने से प्रदर्शन जारी है। इसको लेकर दायर याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट आज सुनवाई करेगा। इस बात की उम्मीद जताई जा रही है के शीर्ष अदालत इस मसले पर अपना अंतिम फैसला आज सुना दे। बता दें कि इन याचिकाओं में दिल्ली को नोएडा से जोड़ने वाली अहम सड़क के बंद हो जाने से लाखों लोगों को हो रही दिक्कत का सवाल उठाया गया है।

दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल ने 2 खूंखार बदमाश को किया ढेर, ओखला मंडी इलाके में हुई मुठभेड़

सड़क खाली नहीं करेंगे
सुप्रीम कोर्ट ने पिछले हफ्ते इस मसले पर केंद्र और दिल्ली सरकार से जवाब मांगा था। सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि विरोध प्रदर्शन के चलते आम लोगों को परेशानी नहीं होनी चाहिए और सार्वजनिक सड़क को बंद करना उचित नहीं है। कोर्ट के इस रुख के बारे में बात करने पर शाहीन बाग के लोगों ने बताया कि उन्हें सड़क पर बैठना अच्छा नहीं लगता, लेकिन सीएए और एनआरसी के विरोध में वो सड़क खाली नहीं करेंगे।

नीतीश ने शराब के हिमायती नेताओं पर साधा निशाना, कहा- खुद पीना है इसलिए करते हैं शराबबंदी का

वादी की याचिका में क्या है?

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट में दायर याचिकाओं में नोएडा जाने वाली एक प्रमुख सड़क को रोक दिए जाने का मसला उठाया गया है। याचिका में कहा गया है कि सड़क को बंद करने से रोजाना लाखों लोगों को परेशानी हो रही है। याचिका में यह मांग भी की गई है कि कोर्ट सरकार को प्रदर्शनकारियों का नेतृत्व कर रहे लोगों की निगरानी करने का आदेश दे। यह देखा जाए कि उनका संबंध किसी राष्ट्र विरोधी संगठन से तो नहीं है। उनका मकसद लोगों को देश विरोधी कामों के लिए उकसाना तो नहीं है।

2020 में राज्यसभा में और मजबूत होगी BJP, कांग्रेस को हो सकता है बड़ा नुकसान

CAA protest CAA shaheen bagh
Dhirendra Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned