दिल्ली में कॉन्डम रखकर चल रहे हैं कैब ड्राइवर, नहीं होने पर पुलिस काट रही है चालान

दिल्ली में कैब ड्राइवर कम से कम एक कॉन्डम अपने साथ रखकर चल रहे हैं।

नई दिल्ली। अभी तक आपने कॉन्डम का इस्तेमाल सिर्फ शारीरिक संबंध के दौरान करते हुए ही सुना होगा, लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि कॉन्डस का इस्तेमाल और भी कई कामों में किया जा सकता है। इसको हम आपको एक ताजा मामले के जरिए समझाते हैं, जो देश की राजधानी दिल्ली से आया है। दरअसल, देश की राजधानी दिल्ली में कैब ड्राइवर अपने पास कॉन्डम रखकर चल रहे हैं और जब इसकी वजह सामने आई तो वाकई हैरान करने वाली थी।

कॉन्डम नहीं होने पर पुलिस काट रही है चालान

एक अखबार की खबर के मुताबिक, राजधानी दिल्ली में कैब ड्राइवरों को कॉन्डम साथ नहीं रखना बहुत महंगा भी पड़ा रहा है। पुलिसवाले इसके लिए कैब ड्राइवरों का चालान भी काट रहे हैं। इस खबर में ऐसे ही एक मामले का जिक्र भी किया है, जहां जेएनयू से नेल्सन मंडेला मार्ग की तरफ पुलिसवालों ने एक कैब ड्राइवर धर्मेंद्र का चालान काट दिया और उसकी वजह थी ड्राइवर के पास कॉन्डम नहीं था। हालांकि पुलिसवालों ने ओवरस्पीड का फाइन लगाया।

आखिर क्यों कैब ड्राइवर साथ में रखकर चल रहे हैं कॉन्डम?

आपको बता दें कि दिल्ली में बड़ी संख्या में ऐसे कैब ड्राइवर हैं, जो फर्स्ट ऐड बॉक्स में कॉन्डम रखकर चलते हैं। उनका मानना है कि यदि वह ऐसा नहीं करते हैं तो इसके लिए भी उनका चालान कट सकता है। दिल्ली की सर्वोदय ड्राइवर असोसिएशन के प्रेजिडेंट कमलजीत गिल ने बताया, 'सभी सार्वजनिक वाहनों के लिए हर समय कम से कम तीन कॉन्डम लेकर चलना जरूरी है।' खुद कमलजीत गिल ने बताया है कि कॉन्डम का इस्तेमाल किसी की हड्डी में चोट आने या फिर कट लगने पर किया जा सकता है। वह बताते हैं, 'यदि किसी व्यक्ति को ब्लीडिंग होने लगती है तो कॉन्डम के जरिए इसे रोका जा सकता है। इसी तरह फ्रैक्चर होने की स्थिति में उस जगह पर अस्पताल पहुंचने तक कॉन्डम बांधा जा सकता है।'

पुलिस के अधिकारी ने बताया, चालान होने पर क्या करें

पुलिसवालों की सख्ती को देखते हुए ज्यादातर कैब ड्राइवर कम से कम एक कॉन्डम तो हमेशा साथ रखकर चल रहे हैं। कुछ कैब ड्राइवरों ने बताया भी है कि पुलिसवाले तो कभी-कभी इस बारे में पूछते नहीं हैं, लेकिन फिटनेस टेस्ट के दौरान कई बार पूछा गया है कि गाड़ी में उनके पास कॉन्डम रखे हैं या नहीं। वहीं पुलिस के एक बड़े अधिकारी की तरफ से ये कहा गया है कि ऐसा कोई नियम नहीं है। फिटनेस टेस्ट के दौरान भी ऐसी कोई पड़ताल नहीं की जाती। यही नहीं यही नहीं पुलिस अधिकारी ने कहा कि यदि कॉन्डम न रखने पर चालान होता है तो कैब ड्राइवरों को अथॉरिटीज से संपर्क करना चाहिए।

Show More
Kapil Tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned