Calcutta University ने घोषित किए नतीजे, यहां देखें परिणाम

  • कलकत्ता विश्वविद्यालय ने 2019 बीए, बीएससी सेमेस्टर 1 परीक्षा के नतीजे घोषित किए।
  • www.wbresults.nic.in पर छात्र देख सकते हैं अपने परीक्षा परिणाम।
  • कोरोना वायरस महामारी के चलते इस बार देरी से से जारी हुए है रिजल्ट।

 

कोलकाता। कलकत्ता विश्वविद्यालय ( Calcutta University ) ने 2019 सीबीसीएस परीक्षाओं के लिए बीए, बीएससी सेमेस्टर I ऑनर्स परिणाम घोषित कर दिए हैं। विश्वविद्यालय ने ये परिणाम आधिकारिक वेबसाइट www.wbresults.nic.in पर आज यानी बुधवार 23 सितंबर 2020 को जारी किए हैं।

UGC: नवंबर में फर्स्ट ईयर के लिए खुलेंगे कॉलेज, सर्दी-गर्मी का कोई ब्रेक नहीं

यूनिवर्सिटी ने ऑनर्स के साथ, जनरल और मेजर परीक्षा 2019 के परिणाम भी जारी कर दिए गए हैं और अब ऑनलाइन उपलब्ध है। यहां पर विश्वविद्यालय के छात्र अपने नतीजे देखने की प्रक्रिया आसानी से जान सकते हैं।

कलकत्ता यूनिवर्सिटी रिजल्ट 2020: कैसे चेक करें

  • सबसे पहले कलकत्ता यूनिवर्सिटी की आधिकारिक परिणाम वेबसाइट www.wbresults.nic.in पर BA/B.Sc पर जाएं।
  • यहां सेमेस्टर- I (ऑनर्स / जनरल / मेजर) परीक्षा, 2019 (CBSC के तहत) लिंक मिलेगा।
  • कलकत्ता विश्वविद्यालय के लिए एक नई विंडो BA/B.Sc सेमेस्टर-I (ऑनर्स/जनरल/मेजर) परीक्षा 2019 (CBSC के तहत) परिणाम खुल जाएगा।
  • दिए गए स्थान में अपना रोल नंबर दर्ज करें और अपने परिणाम देखने के लिए सबमिट करें।
रिजल्ट

B.Com ऑनर्स और जनरल के लिए परिणाम पहले ही विश्वविद्यालय द्वारा जारी किया जा चुका है। छात्रों को सलाह दी जाती है कि वे परिणामों की ऑनलाइन जांच करें और भविष्य के संदर्भ के लिए एक कॉपी सुरक्षित रख लें। कोरोना वायरस लॉकडाउन की देशव्यापी स्थिति के कारण परिणामों में देरी हुई है।

कलकत्ता विश्वविद्यालय के बारे में

कलकत्ता विश्वविद्यालय देश के सबसे पुराने विश्वविद्यालयों में से एक है। इसकी स्थापना 24 जनवरी 1857 को दिल्ली, मद्रास और कलकत्ता में विश्वविद्यालयों की स्थापना के लिए ईस्ट इंडिया कंपनीज़ के कोर्ट ऑफ़ डायरेक्टर्स के पुनर्मूल्यांकन के अनुसार की गई थी। विश्वविद्यालय की स्थापना लंदन की यूनिवर्सिटी की तर्ज पर की गई थी। तब से विश्वविद्यालय के संविधान में धीरे-धीरे बदलाव किए गए हैं। 150 से अधिक वर्षों के समृद्ध इतिहास में, कलकत्ता विश्वविद्यालय क्षेत्र में शीर्ष विवि में से एक बन गया है और कई लोगों के लिए एक महत्वाकांक्षी संस्थान बना हुआ है।

भारत की कुछ सबसे शानदार हस्तियां जैसे वंदे मातरम के रचयिता बंकिमचंद्र चटर्जी और स्वामी विवेकानंद भी इसी विश्वविद्यालय के पूर्व छात्र हैं। ये दोनों विश्वविद्यालय के बीए कार्यक्रम के शुरुआती छात्रों में से थे।

अमित कुमार बाजपेयी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned