फ्रंटलाइन वर्कर्स के टीकाकरण का खर्च उठाएगी केन्‍द्र सरकार - पीएम मोदी

- राज्य सरकारों को कोविड टीकाकरण के पहले दौर के लिए भुगतान नहीं करना होगा।
- दूसरे चरण में 50 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को टीका लगाया जाएगा
- जनप्रतिनिधि नहीं हैं टीकाकरण की प्राथमिकता सूची में।
- कोरोना वायरस की चार अन्य वैक्सीन पर चल रहा काम।
- मेड इन इंडिया वैक्सीन देश के लिए गर्व की बात।

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी pm narendra modi ने सोमवार को जोर देकर कहा कि भारत कोविड-19 के खिलाफ निर्णायक लड़ाई में उतर रहा है, क्योंकि देश 16 जनवरी से मेड इन इंडिया टीकाकरण अभियान Corona Vaccination की तैयारी कर रहा है। कोविड वैक्सीन coronavirus vaccines रोल-आउट पर मुख्यमंत्रियों के साथ हुई बैठक के दौरान टिप्पणी करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि जन प्रतिनिधि प्राथमिकता सूची में नहीं हैं और पहले दौर के टीके फ्रंटलाइन कार्यकर्ताओं को लगाए जाएंगे। पीएम मोदी ने कहा कि राज्य सरकारों को कोविड टीकाकरण के पहले दौर के लिए भुगतान नहीं करना होगा, क्योंकि केंद्र सरकार इसकी लागत वहन करेगी।

भारत सरकार ने दिया कोरोना वैक्सीन का ऑर्डर, 200 रुपये में मिलेगी कोवीशील्ड

जनप्रतिनिधि नहीं हैं प्राथमिकता सूची में -
मोदी ने कहा कि हमें जन जागरूकता पैदा करना जारी रखना है, लेकिन दूसरे और तीसरे राउंड के बाद अधिकतम जागरूकता की जरूरत होगी, जब हम तीन करोड़ टीकाकरण कर चुके होंगे।" प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि टीकाकरण के लिए जनप्रतिनिधि प्राथमिकता सूची में नहीं हैं। केवल फ्रंटलाइन और हेल्थकेयर कार्यकर्ता इस सूची में हैं। कोरोनावायरस के खिलाफ लड़ाई भारत के संघवाद का उदाहरण है।"

Drone से होगी Corona Vaccine की डिलिवरी, 20 कंपनियों को सरकार से मिली मंजूरी

मेड इन इंडिया वैक्सीन गर्व की बात -
पीएम ने कहा कि भारत कोविड-19 के खिलाफ एक निर्णायक लड़ाई में प्रवेश कर रहा है, हम १६ जनवरी से टीकाकरण अभियान शुरू करने जा रहे हैं। यह हमारे लिए गर्व की बात है कि जिन दो वैक्सीन को इमरजेंसी यूज ऑथराइजेशन दिया गया है वह दोनों ही मेड इन इंडिया हैं। मोदी ने कहा कि दोनों भारतीय टीके दुनिया के किसी भी अन्य टीके की तुलना में अधिक प्रभावी मूल्य (कास्ट इफेक्टिव) हैं।

कोरोना वैक्सीन के ड्राई रन को लेकर हर्षवर्धन ने दिया बड़ा अपडेट, क्या होगा खास

चार अन्य वैक्सीन पर चल रहा काम -
मोदी ने कहा कि पहले से ही स्वीकृत टीकों के अलावा, चार अन्य भी पाइपलाइन में हैं। यह भविष्य के लिए बेहतर तरीके से योजना बनाने में हमारी मदद करेगा। हमारे विशेषज्ञों ने देशवासियों को प्रभावी वैक्सीन उपलब्ध कराने के लिए सभी सावधानियां बरती हैं।" मोदी ने कहा कि ये टीके देश की स्थिति को ध्यान में रखते हुए बनाए गए हैं। मोदी ने कहा कि "दूसरे चरण में 50 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को टीका लगाया जाएगा।"

विकास गुप्ता
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned