गाय-भैंस का भी होगा आधार कार्ड! केंद्र ने दिए 148 करोड़ रुपए

कृषि मंत्री राधामोहन सिंह ने लोकसभा में ये जानकारी दी है।

नई दिल्ली: मंगलवार को ही सुप्रीम कोर्ट ने आधार लिंक मामले में एक अहम फैसला सुनाया है। सुप्रीम कोर्ट ने एक आदेश में कहा है कि सरकारी सेवाओं को आधार से जोड़ने की समयसीमा 31 मार्च से आगे बढ़ाई जा रही है। इस बीच केंद्र सरकार ने आधार से जुड़ी एक और योजना के लिए बजट आवंटित कर दिया है।

गाय-भैंसों को भी मिलेगा अब आधार कार्ड

अभी तक आधार कार्ड लोगों के लिए एक विशिष्ट पहचान बना हुआ था, लेकिन अब आधार पशुओं की भी पहचान होगा। दरअसल, केंद्र सरकार अब दुधारू गाय-भैंसों के लिए भी 12 अंकों का UID नंबर जारी कर रही है। इसके लिए सरकार ने 9 करोड़ मवेशियों की पहचान के लिए 148 करोड़ रुपए का बजट आवंटित किया है। मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक, इसका इस्तेमाल अभी दुधारू गायों और भैंसों की पहचान और दुग्ध उत्पाद को बढ़ावा देने की योजना से किया जाएगा।

कृषि मंत्री ने सदन में दी जानकारी

सोमवार को लोकसभा में कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह ने जानकारी दी कि केंद्र सरकार की तरफ से दुधारू गाय-भैंसों के आधार कार्ड के लिए 9 करोड़ मवेशियों की पहचान की जाएगी, जिसके लिए 148 करोड़ रुपए जारी किए गए हैं। सदन में हिना गावित और पी आर सुंदरम के प्रश्न के लिखित उत्तर में कृषि मंत्री ने कहा कि इससे पशुओं के वैज्ञानिक प्रजनन, रोगों के फैलने पर नियंत्रण और दुग्ध उत्पादों के व्यापार में वृद्धि करने के उद्देश्य की प्राप्ति होगी।

राष्ट्रीय पशु उत्पादकता मिशन के तहत है योजना

कृषि मंत्री ने आगे बताया कि राष्ट्रीय पशु उत्पादकता मिशन के 'पशु संजीवनी' घटक के तहत इस योजना को लाया जा रहा है। इसकी तकनीक के लिहाज से राष्ट्रीय डेयरी विकास बोर्ड पहले ही पशु स्वास्थ्य और उत्पादन संबंधी सूचना नेटवर्क (INAPH) विकसित कर चुका चुका है, जिसे 12 अंकीय विशिष्ट पहचान संख्या वाले पोलीयूरिथिन टैग का प्रयोग करके पशु पहचान संबंधी डाटा अपलोड करने के लिए राष्ट्रीय डाटाबेस के रूप में प्रयोग किया जा रहा है।

Kapil Tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned