चंडीगढ़ प्रशासन का फैसला, 18 साल से ऊपर वालों को मुफ्त में लगेगा कोरोना का टीका

पहले प्रशासन केंद्र सरकार के दिशा निर्देशों का इंतजार कर रहा था।

नई दिल्ली। चंडीगढ़ में अब 18 वर्ष से अधिक उम्र वाले लोगों को मुफ्त में कोरोना का टीका दिया जाएगा। बीते कई दिनों से चल रही अटकलों पर विराम लगाते हुए प्रशासन ने मंगलवार को ये फैसला लिया है। पहले प्रशासन केंद्र सरकार के दिशा निर्देशों का इंतजार कर रहा था।

चंडीगढ़ के निजी अस्पतालों में टीकाकरण को रोका गया है। स्वास्थ्य निदेशक डॉ.अमनदीप कंग ने निजी अस्पताल संचालकों को बचे हुए टीकों को लौटने का फरमान सुनाया है। उन्होंने कहा है कि अब निजी अस्पतालों को टीके को खरीदकर लगाना होगा। अब स्वास्थ्य विभाग टीकों की आपूर्ति नहीं करने वाला है। वहीं, आईएमए के पूर्व अध्यक्ष डॉ.आरएस बेदी के अनुसार टीके की आपूर्ति करने वाली कंपनियों का कहना है कि अगले छह माह तक आपूर्ति नहीं हो पाएगी।

4256 लोगों ने लगवाया टीका

सोमवार तक शहर के 49 केंद्रों पर 4256 लाभार्थियों ने टीका लगवाया। इसमें 45 साल से ज्यादा उम्र वाले 1746 लाभार्थियों ने टीके की पहली खुराक लगवाई। 195 स्वास्थ्य कर्मियों को पहली व 175 को दूसरी खुराक दी गई। वहीं 123 कर्मचारियों को पहली व 158 को दूसरी खुराक लगाई गई।

507 मरीजों की मौत

चंडीगढ़ में सोमवार को 890 नए कोरोना संक्रमित मरीज पाए गए। जबकि 11 मरीजों की मौत हो चुकी है। वहीं, क्वारंटाइन में रखे 528 मरीजों को 10 दिन की अवधि के बाद छुट्टी दे दी गई। स्वास्थ्य विभाग ने 24 घंटे के अंदर 3911 लोगों की कोरोना जांच की है। इनमें से 890 की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। वहीं 90 की रिपोर्ट अभी तक आना बाकी है। शहर में सक्रिय मामलों की संख्या 7946 पहुंच चुकी है। अब तक 507 मरीजों की मौत हो चुकी है।

coronavirus
Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned