Chandrayaan3 को लेकर ISRO का बड़ा फैसला, पिछले मिशन की प्रोजेक्ट डायरेक्टर को टीम से हटाया

  • Chandrayaan3 को लेकर आई सबसे बड़ी खबर
  • ISRO ने चंद्रयान-2 मिशन की प्रोजेक्ट डायरेक्टर को हटाया

नई दिल्ली। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान केंद्र ( ISRO ) ने अपने आगामी मिशन चंद्रयान-3 ( Chandrayaan3 ) को लेकर बहुत बड़ा फैसला लिया है। दरअसल वर्ष 2019 के अपने सबसे चर्चित मिशन चंद्रयान-2 ( Chandrayaan2 ) की प्रोजेक्ट डायरेक्टर और वैज्ञानिक एम वनिता को इस मिशन से अलग कर दिया गया है।
अब वनिता चंद्रयान- 3 मिशन की टीम का हिस्सा नहीं रहेंगी।

इसरो ( ISRO ) मुख्यालय ने एम वनिता की जगह पर पी वीरामुतुवेल को नियुक्त किया है।

आपको बता दें कि चंद्रयान-2 मिशन के साथ भेजे गए लैंडर विक्रम की लैंडिंग आखिरी वक्त पर सफल नहीं हो पाई थी।

इस मिशन में एम वनिता की टीम सभी काम के लिए जिम्मेदार थीं।

निर्भया के दोषियों की फांसी को लेकर सुप्रीम कोर्ट का सबसे बडा़ फैसला, सच जानकर रह जाएंगे दंग

मौसम को लेकर आई अब तक की सबसे बड़ी चेतावनी, देश के इतने राज्यों में अगले इतने वक्त तक शीतलहर का मचेगा कहर

यह महिला वैज्ञानिक करेंगी मिशन को लीड
चंद्रयान-2 मिशन की टीम को लीड करने वाली रितु करिधाल चंद्रयान-3 मिशन का भी नेतृत्व करेंगी। इसरो की ओर से एम वनिता के तबादले के बारे में कोई आधिकारिक वजह सामने नहीं आई है।

चंद्रयान-2 मिशन के लिए रितु करिधाल को मिशन डायरेक्टर और एम वनिता को प्रॉजेक्ट डायरेक्टर बनाए जाने पर इसरो की खूब तारीफ की गई थी। इसे महिलाओं के सशक्तिकरण से भी जोड़ा गया था।

वनिता को मिली ये जिम्मेदारी
इसरो के ऑर्डर की कॉपी पर गौर करें तो इसमें लिखा है, ' एम वनिता, शानदार वैज्ञानिक और चंद्रयान-2 की प्रॉजेक्ट डायरेक्टर को अब पेलोड, डेटा मैनेजमेंट ऐंड स्पेस ऐस्ट्रोनॉमी एरिया (पीडीएमएसए) का डेप्युटी डायरेक्टर नियुक्त किया जाता है।

यही नहीं, पी वीरामुतुवेल का इसरो मुख्यालय से ट्रांसफर करके उन्हें चंद्रयान-3 का प्रोजेक्ट डायरेक्टर नियुक्त किया जाता है।'

इसके अलावा एक और ऑर्डर पास किया गया है। वीरामुतुवेल प्रॉजेक्ट मैनेजमेंट टीम की भी अगुवाई करेंगी। सभी डेप्युटी प्रोजेक्टर डायरेक्टर्स इस टीम के सदस्य हैं।

29 नए डीपीडी किए नियुक्त
मिशन के लिए इसरो ने 29 डेप्युटी प्रोजेक्ट डायरेक्टर नियुक्त किए हैं। ये सभी मिशन से जुड़े अलग-अलग काम देखेंगे।

इनमें से कुछ लैंडर तो कुछ रोवर के डेवेलपमेंट पर काम करेंगे। चंद्रयान- 3 मिशन देश के अगले सबसे अहम अंतरिक्ष अभियानों में शामिल है।

वैज्ञानिक एम वनीता के पास डिजाइन इंजीनियर का प्रशिक्षण है। उन्हें ' एस्ट्रोनॉमिकल सोसाइटी ऑफ इंडिया' से 2006 में ' बेस्ट वुमन साइंटिस्ट का अवार्ड मिल चुका है। वह कई वर्षों से लगातार सैटेलाइट पर काम करती आई हैं।

धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned