चीन ने पूरे देश को अंधेरे में डुबोने की रची थी साजिश, मुंबई में लगा था मेगा बिजली कट

Highlights

  • चीन ने अपने हैकर्स समूह रेड इको के जरिए ने बिजली तंत्र को तबाह करने की रचि साजिश।
  • सीईआरटी ने बिजली कंपनी को 19 नवंबर 2020 को इस बारे में मेल भेज कर आगाह किया था।

नई दिल्ली। पूर्वी लद्दाख में सीमा पर जारी तनाव को लेकर चीन ने बड़ी साजिश को अंजाम देने की तैयारी कर ली थी। चीन ने साइबर अटैक कर देशभर में बिजली आपूर्ति ठप करने की षड्यंत्र रचा था। वह चाहता था कि भारत इस अटैर के भय से सीमा पर आक्रामक रवैया न अपनाए। चीन ने अपने हैकर्स समूह रेड इको के जरिए भारत के बिजली तंत्र को तबाह करने के लिए मालवेयर शेडो पैड से हमला किया था।

कांग्रेस ने दोबारा उठाया सवाल, पीएम ने पहले क्यों नहीं लगवाया कोरोना टीका

मुंबई में बीते साल ऐतिहासिक रूप से बिजली गुल हुई थी,इसका यही कारण माना गया है। बिजली मंत्रालय ने सोमवार को माना कि इस साइबर अटैक को लेकर सीईआरटी ने बिजली कंपनी को 19 नवंबर 2020 को इस बारे में मेल भेज कर आगाह किया था।

मंत्रालय के अनुसार 19 नवंबर को कंप्यूटर इमर्जेंसी रिस्पांस टीम यानी सीईआरटी से प्राप्त मेल को देशभर के बिजली आपूर्ति केंद्रों को भेज गया था। उसके अनुसार सभी केंद्रों ने इस खतरे से निपटने के उपाय किए थे।

एनसीआईआईपीसी ने 12 फरवरी को मेल के जरिए इसकी सूचना दी थी। बिजली मंत्रालय ने कहा कि सीईआरटी से नवंबर 2020 में चीन के साइबर हमले की सूचना मिलते ही एहतियाती कदम उठा लिए गए थे।

मुंबई बिजली गुल में था चीन का हाथ!

मीडिया रिपोर्ट में बताया गया कि बीते साल मुंबई में हुई ऐतिहासिक बिजली गुल के पीछे चीन का हाथ था। चीन चाहता था कि सीमा पर जारी तनाव को लेकर भारत को अन्य तरह से परेशान किया जाए। इसलिए उस पर साइबर अटैक किया जाए। मुंबई के मेगा बिजली कट के पीछे चीन था।

शेडो पैड था मालवेयर

चीन ने भारत की बिजली आपूर्ति ठप करने को लेकर शेडो पैड नाम का मालवेयर वायरस तैयार किया। इसे देश के बिजली आपूर्ति सिस्टम में जारी कर पूरे देश की बिजली आपूर्ति ठप करने की साजिश थी।

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned