सिविल सेवा परीक्षा टालने वाली याचिका सुप्रीम कोर्ट में खारिज, 4 अक्टूबर को ही UPSC एग्जाम

  • सिविल परीक्षा टालने वाली याचिका सुप्रीम कोर्ट से खारिज
  • SC ने कहा- तय समय पर होगी परीक्षा, COVID-19 गाइडलाइंस का पालना करना अनिवार्य

नई दिल्ली। कोरोना वायरस (Coronavirus) के कारण यूपीएसी के सिविल सेवा परीक्षा ( Civil Services Exam ) पर जो ग्रहण लगते हुए दिखाई दे रहा था, वह आज खत्म हो गया। सुप्रीम कोर्ट ( Supreme Court ) ने परीक्षा को टालने वाली याचिका को खारिज कर दिया है। अब सिविल सेवा की परीक्षा अपने तय समय यानी चार अक्टूबर को होगी। यूपीएसी ने भी परीक्षा को टालने वाली मांग पर विरोध किया है।

चार अक्टूबर को होगी सिविल सेवा की परीक्षा

दरअसल, कोरोना वायरस के कारण सिविल सेवा की परीक्षा को टालने के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिक दायर की गई थी। सुनवाई के दौरान कोर्ट ने बुधवार को उस याचिका को खारिज कर दिया है। कोर्ट ने साफ कहा कि सिविल परीक्षा तय समय पर होगी। हालांकि, कोर्ट ने यूपीएससी से कहा कि परीक्षा के दौरान कोरोना के नियमों का पालन करना अनिवार्य होगा। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि UPSC राज्यों को निर्देश दे सकता है कि उम्मीदवारों को एडमिट कार्ड दिखाने पर होटलों में कमरा दिया जाए। साथ ही कोर्ट ने कहा कि अदालत UPSC को यह निर्देश नहीं दे सकती है कि कोरोना मरीजों को परीक्षा देने की अनुमति दी जाए। क्योंकि, इस संक्रमण के फैलने का खतरा ब़ढ़ सकता है। इसके अलावा कोर्ट ने कहा कि एक परीक्षा केन्द्र पर 100 से ज्यादा को परीक्षा देने की अनुमति नहीं होगी। क्योंकि, MHA ने जो गाइडलाइंस जारी किए हैं उसे पालन करना अनिवार्य है। वहीं, सुनवाई के दौरान यूपीएससी ने कहा कि परीक्षा की तैयारी पूरी कर ली गई है और अब कोविड-19 के कारण इसे टाला नहीं जा सकता है।

ये था पूरा मामला

गौरतलब है कि UPSC के 20 उम्मीदवारों ने परीक्षा टालने को लेकर सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर किया था। याचिका में कहा गया था कि सात घंटे ऑफलाइन परीक्षा होगी, जिसमें तकरीबन छह लाख उम्मीदवार हिस्सा लेंगे। 72 शहरों में परीक्षा का आयोजन होगा। जिसके कारण कोरोना के फैलने का खतरा बढ़ जाता है। लिहाजा, इस परीक्षा को टाल दिया जाए। लेकिन, सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले पर सुनवाई करते हुए आज याचिका को खारिज कर दिया।

coronavirus Coronavirus in india
Kaushlendra Pathak
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned