जालंधर आर्मी कैंप से गायब हुई सेना के ऑपरेशनल मामलों से जुड़ी जानकारी

ब्रिगेड के परिचालन मामलों से जुड़ी दस्तावेज एक हफ्ते पहले गायब हो गए थे और सेना ने उनके लापता होने की जांच के लिए एक उच्च स्तरीय जांच की मांग की है...

जालंधर. पंजाब के जालंधर में आर्मी के इंफेंट्री ब्रिगेड के ऑपरेशनल मामलों से जुड़े जरूरी दस्तावेज के लापता होने की खबर मिली है। एक हफ्ते पहले गायब हुए इन दस्तावेजों के लापता होने की जांच के लिए सेना ने एक उच्च स्तरीय जांच समिति गठित की है। इस समय समिति जांच करने में जुटी है वहीं इंफेंट्री ब्रिगेड के जनरल स्टाफ ऑफिसर ग्रेड 1 (जीएसओ 1) को कस्टडी में ले लिया गया हैं, जो लेफ्टिनेंट कर्नल के पद के अधिकारी हैं।
सूत्रों के मुताबिक दस्तावेज कथित तौर पर जीएसओ 1 के कार्यालय में रखा गया था जहां से वे गायब हो गए थे। यह भी बताया जा रहा है कि एमआई ने उन सभी लोगों से पूछताछ की है जिन्होंने पिछले कुछ दिनों में जीएसओ 1 के कार्यालय का दौरा किया था। इस सिलसिले में कार्यालय परिसर के नियमित रखरखाव गतिविधियों में लगे हुए सिविलियन कर्मचारियों से भी पूछताछ की गई है। गौरतलब है कि जालंधर स्थित आर्मी की इंफेंट्री ब्रिगेड 11 आर्मी कार्प्स से जुड़ी हुई है। 11 आर्मी कार्प्स का हेडक्वार्टर भी जालंधर में ही है।

BSF ने अपने जवान की शहादत का लिया बदला, उड़ा दीं 3 पाकिस्तानी चौकियां, 12 रेंजर्स भी मारे

अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक दस्तावेज गायब होने के बारे में सेना के मुख्यालय के सूत्रों ने पुष्टि की है कि वर्गीकृत दस्तावेज जलंधर में ब्रिगेड मुख्यालय से गायब हो गए थे। उन्होंने कहा कि वर्तमान में इसकी जांच हो रही है इस वजह से डिटेल जानकारी इस मामले में अभी दी नहीं जा सकती। वहीं दूसरी ओर ब्रिगेड से प्रतिक्रिया यह है कि ये दस्तावेज पुराने थे इसका हाल के दिनों से कोई लेना देना नहीं था। चूंकि उन्हें अभी भी क्लासीफाइड कैटीगरी में रखा गया था इस लिहाज से इसे बेहद महत्वपूर्ण आंका जा रहा है।

और कितना गिरेगा पाकिस्तान! कुलभूषण का फर्जी वीडियो जारी कर भारत पर लगाए गंभीर आरोप

Ekktta Sinha
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned