टीपू जंयती के कार्यक्रम में शामिल नहीं होंगे CM एचडी कुमारस्वामी, हुबली और धारावाड़ में धारा 144 लागू

मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी खराब सेहत की वजह से टीपू जयंती के कार्यक्रम में भाग नहीं ले पाएंगे।

बेंगलुरु। कर्नाटक सरकार ने शनिवार 10 नवंबर को मैसूर के शासक टीपू सुल्तान की जयंती मनाने का फैसला किया है। लेकिन हैरानी की बात यह है कि टीपू सुल्तान की जयंती के इस कार्यक्रम में कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी शामिल नहीं होंगे। इसके पीछे का कारण बताया गया है कि खराब सेहत की वजह से वे इस कार्यक्रम में भाग नहीं ले पाएंगे। साथ ही डॉक्टर ने उन्हें तीन दिन के लिए (11 नवंबर तक) आराम करने की सलाह दी है।

हुबली और धारावड़ में धारा 144 लागू

आपको बता दें कि भले ही मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी टीपू जंयती के कार्यक्रम में शामिल नहीं होंगे लेकिन इसका विरोध जोरों पर हो रहा है। लिहाजा हुबली और धारावाड़ के कई इलाकों में प्रशासन ने धारा 144 लागू कर दिया है। अर्थात अब एक साथ एक जगह पर चार से अधिक लोग इक्ट्ठा नहीं हो पाएंगे। प्रशासन ने कहा है कि 10 नवंबर को सुबह 6 बजे से लेकर 11 नवंबर सुबह 7 बजे तक हुबली और धारावाड़ के कई शहरों में धारा 144 लागू रहेगा।

टीपू जंयती के खिलाफ है भाजपा

आपतो बता दें कि एक बार फिर से टीपू जंयती को लेकर राजनीति गरमा गई है। दरअसल भाजपा हमेशा से टीपू जयंती मनाने का विरोध करती आई है। दरअसल एक जमाने में मैसूर के शासक रहे टीपू सुल्तान को भाजपा एक अत्याचारी शासक बताती है। इसलिए 10 नवंबर को होने वाले इस कार्यक्रम के विरोध में भाजपा और श्री राम सेना के समर्थक प्रदर्शन कर रहे हैं। केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार हेगड़े ने कहा है कि एक अत्याचारी के जन्मदिन को मनाए जाने की कोई जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि टीपू सुल्तान हिंदू विरोधी थे। तो वहीं कांग्रेस और कर्नाटक सरकार ने कहा है कि भाजपा के विरोध के बावजूद भी 18वीं सदी के मैसूर के शासक टीपू सुल्तान की जयंती अपने तय कार्यक्रम के मुताबिक मनाया जाएगा।

BJP Congress
Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned