सरकारी आदेश को ठेंगा दिखा सरेआम घूमता रहा कोरोना का मरीज, न जाने कितनों को दे गया संक्रमण?

  • दुनियाभर में कोरोना वायरस ( Coronavirus ) का खौफ
  • अलर्ट के बावजूद बिहार ( Bihar ) में 'कोरोना बम' बनकर घूमता रहा शख्स

नई दिल्ली। कोरोना वायरस ( coronavirus ) का खौफ पूरी दुनिया में बढ़ता जा रहा है। भारत ( India ) में भी यह खतरनाक वायरस काफी फैल चुका है। पांच सौ से ज्यादा लोग इस वायरस की चपेट में आ चुके हैं, जबकि 11 लोगों की मौत हो चुकी है। लेकिन, अलर्ट और सरकारी आदेश के बावजूद बिहार ( Bihar ) में कोरोना वायरस के मरीज ने जो किया उसने सबको हैरान कर दिया है।

दरअसल, बिहार में भी कोरोना वायरस के कुछ मरीज सामने आए हैं उसमें एक की तो मौत भी हो चुकी है। लेकिन, मरने से पहले शख्स कई जगहों पर 'कोरोना बम' बनकर घूमता रहा। मरने वाला शख्स मूलरूप से मुंगेर का रहने वाला था। मरने से पहले शख्स कई लोगों के संपर्क में आया, लेकिन अब सवाल यह उठ रहा है कि उनमें कितनों की जांच हुई और कितनों की नहीं। इस सवाल ने सबको हैरान कर दिया है।

गौरतलब है कि कोरोना मरीज की मौत शनिवार को हुई थी। हालांकि, उसके मौत के बाद यह पुष्टि हुई कि वह कोरोना पॉजिटिव था। उसे बिहार के AIIMS में किडनी के इलाज के लिए भर्ती किया गया, जहां से उसका सैंपल कोरोना की जांच के लिए भेजा गया। लेकिन जांच रिपोर्ट आने में काफी समय लग गया तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। सबसे हैरानी वाली बात यह है कि मृतक के मोहल्‍ले में प्रशासन ने तत्‍काल कार्रवाई नहीं की। स्‍वास्‍थ्‍य विभाग की टीम ने मृतक के मुंगेर स्थित घर के तीन किलोमीटर के दायरे को सील करने की कार्रवाई सोमवार को की है।

सबसे बड़ा सवाल यह है कि कोरोना संक्रमित युवक विदेश से आने के बावजूद स्‍वास्‍थ्‍य जांच से कैसे बचा। अगर उसकी स्‍वास्‍थ्‍य जांच हुई जो यह कैसी जांच थी कि संक्रमण का संदेह तक नहीं हुआ? विदेश से आने और कोरोना संक्रमण के लक्षणों के बावजूद मुंगेर से लेकर पटना तक इलाज के दौरान किसी भी डॉक्‍टर ने समय रहते कोरोना की जांच क्‍यों नहीं करायी? इतना ही नहीं मृतक के अंतिम संस्कार में शामिल हुए रिश्तेदारों की अब तक जांच नहीं हुई है। इसके अलावा हॉस्पिटल में मृतक के संपर्क में जो-जो आया उसकी जांच हुई की नहीं, इसकी जानकारी स्वास्थ्य विभाग देने के लिए तैयार नहीं है। इस पूरे मामले पर स्वास्थ्य विभाग का कोई भी अधिकारी कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है। लिहाजा, अब सवाल यह उठ रहा है कि मरने से पहले शख्स ने न जानें कितनों को संक्रमित कर गया होगा?

coronavirus Corona virus Coronavirus Cases in India
Show More
Kaushlendra Pathak Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned