दिल्ली के रेड जोन इलाके में चिंताजनक स्थिति, 3.2 लाख लोगों में केवल 5600 का कोरोना टेस्ट

  • दुनिया के साथ-साथ भारत में तेजी से बढ़ रहा है कोरोना वायरस ( coronavirus ) का आंतक
  • दिल्ली ( Delhi ) में स्थिति बेहद चिंताजनक
  • रेड जोन ( Red Zone) में केवल 5600 लोगों का कोरोना टेस्ट

नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस ( coronavirus ) काफी तेजी से फैलता जा रहा है। 16 हजार से ज्यादा लोग इस खतरनाक वायरस से संक्रमित हो चुके हैं, जबकि करीब सात सौ लोगों की मौत हो चुकी है। इस महामारी को रोकने के लिए अगामी तीन मई तक के लिए लॉकडाउन ( Lockdown 2.0 ) लगा हुआ है। इसके बावजूद कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है।

वहीं, देश की राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली ( Delhi ) और महाराष्ट्र ( Maharashtra ) में स्थिति बेहद चिंताजनक है। आलम ये है कि इन दोनों राज्यों में कोरोना संक्रमितों के आंकड़े काफी तेजी से बढ़ रहे हैं। अगर दिल्ली की बात करें तो यहां तबलीगी जमात के कारण मरीजों की संख्या में काफी इजाफा हुआ है। वहीं, दिल्ली के रोड जोन इलाके में अब तक केवल 5600 लोगों का कोरोना का टेस्ट हुआ है।

5619 लोगों का कोरोना टेस्ट

दिल्ली सरकार के मुताबिक, रेड जोन इलाके में कुल 3.23 लाख लोग रहते हैं, जबकि 22 अप्रैल तक केवल 5619 लोगों का कोरोना टेस्ट हुआ है। यानी जांच होने की संख्या केवल 1.7 प्रतिशत है। इनमें बुधवार को 995 लोगों का कोरोना टेस्ट हुआ है। वहीं, मंगलवार को 1173 लोगों का कोरोना टेस्ट हुआ था। वहीं, पूरी दिल्ली में 28, 309 लोगों का कोरोना की जांच की गई है।

गौरतलब है कि दिल्ली सरकार को 42, 000 हजार रैपिड टेस्टिंग किट मिल चुकी, जिसका इस्तेमाल रेड जोन इलाके में किया जाना है। लेकिन, इसी बीच ICMR ने कहा कि ये टेस्टिंग किट सही नहीं। गौरतलब है कि टेस्टिंग किट को लेकर कई जगहों से शिकायत आ रही है। जिसने सरकार की मुश्किलें और बढ़ा दी है।

2248 पहुंचा कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा

वहीं, दक्षिण जिले के अधिकारी का कहना है कि रैपिड किट की आपूर्ति नहीं होने के कारण RT-PCR ही हमारे पास एक मात्र विकल्प है। अधिकारी का कहना है कि हमलोग एक दिन में 50-60 से टेस्ट कर रहे हैं। लेकिन, यह जरूरत पर निर्भर करता है।

गौरतलब है कि कई अधिकारियों का कहना है कि टेस्ट की संख्या बढ़ाने की जरूरत है। इन सबके बीच कोरोना को लेकर दिल्ली सरकार की चिंता लगातार बढ़ती जा रही है। क्योंकि, यहां अब तक 2248 लोग कोरोना की गिरफ्त में आ चुके हैं, जबकि 48 लोगों की मौत हो गई है। वहीं, 724 लोग ठीक होकर अपने घर लौट चुके हैं।

coronavirus COVID-19
Kaushlendra Pathak
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned