Coronavirus: मानव संसाधन मंत्री निशंक ने पीएम राहत कोष में दिया एक माह का वेतन

  • कोरोना वायरस को देखते हुए केंद्रीय मंत्री ने लिया फैसला
  • लोगों से एकजुट होकर कोरोना के खिलाफ जंग लड़ने की अपील
  • लॉकडाउन का पालन करने की भी अपील

नई दिल्ली। केंद्रीय मानव संसाधान विकास मंत्री रमेश पोखरियाल 'निशंक' ( Union Minister for Human Resource Development Ramesh Pokhriyal 'Nishank' ) ने देश में कोरोना वायरस (Coronavirus) के प्रकोप से लड़ने के लिए स्थापित प्रधामंत्री राहत कोष में अपना एक महीने का वेतन दान करने की घोषणा की है।

निशंक ने कहा, "कोरोना वायरस के इस वैश्विक संकट के दौर में इस महामारी से लड़ने के लिए आर्थिक सहयोग के रूप में महीने का वेतन प्रधानमंत्री राहत कोष में जमा कर रहा हूं। जरूरत पड़ने पर व्यक्तिगत स्तर पर आगे और भी यथासंभव सहयोग की कोशिश करूंगा।" उन्होंने सभी देशवासियों से इस संकट की घड़ी में एकजुट रहने और प्रधानमंत्री एवं स्वास्थ्य विभाग की अपील को मानने का निवेदन भी किया।

ये भी पढ़ें: Coronavirus: स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन का बड़ा बयान- देशभर में Covid-19 के लिए विशेष अस्पताल बनाने की तैयारी

लोग महामारी के खिलाफ जंग में अपना सहयोग दें- निशंक

निशंक ने कहा, "मैं सभी देशवासियों से हाथ जोड़कर अपील करना चाहता हूं कि वे प्रधानमंत्री की अपील को मानते हुए अपने अपने घरों में रहकर इस महामारी के खिलाफ जंग में अपना सहयोग दें। इसके अलावा जो भी व्यक्ति इस वायरस के खिलाफ लड़ाई आर्थिक सहयोग देना चाहता हो वो भी प्रधानमंत्री राहत कोष में धनराशि जमा करवा सकते हैं।"

ये भी पढ़ें: पीएम मोदी बोले- जिस तरह महाभारत का युद्ध 18 दिन में जीता था कोरोना से भी 21 दिन में जीतेंगे

छात्रों और शिक्षकों से जागरूक करने की अपील

भारत में इस महामारी के बढ़ते प्रकोप को ध्यान में रखते हुए सरकार ने आज ही राहत पैकेज भी घोषणा की है। मंत्री ने विद्यार्थियों एवं शिक्षकों से भी अपील की है कि वो इस खतरनाक महामारी के बारे में ज्यादा से ज्यादा लोगों को विभिन्न माध्यमों से जागरूक करें और उनको लॉकडाउन का पालन करने के लिए प्रोत्साहित करें।

वहीं सीबीएसई के सचिव अनुराग त्रिपाठी ने छात्रों अभिभावकों और शिक्षकों को लॉकडाउन के इस समय का सदुपयोग करने की सलाह दी। निशंक ने बताया कि "लॉकडाउन का यह समय बच्चों, अध्यापकों अभिभावकों तीनों के लिए सुनहरा अवसर लेकर आया है। सबके पास असीमित समय, घर जैसी की प्रयोगशाला, इंटरनेट पर मौजूद दुनिया के सारे संसाधनों का उपयोग करें।

COVID-19 COVID-19 virus
Prashant Jha
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned