Coronavirus:अस्पतालों में काम करने वाले स्वास्थ्य कर्मियों के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय ने जारी की एडवाइजरी

  • अस्पतालों में काम करने वाले हेल्थ वर्कर्स में कोरोना संक्रमण का खतरा ज्यादा
  • सभी अस्पताल प्रबंधन HAIs से निपटने के लिए नियुक्त करें नोडल अफसर

दुनिया भर के देश इस समय कोरोना वायरस (coronavirus) के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे हैं। इस महामारी से बचाव के लिए देश में लॉकडाउन का तीसरा चरण चल रहा है। इस चरण में देश को आगे बढ़ाने के लिए कई कामों में छूट दी गई है। देश के आर्थिक हालात को पटरी पर लाने के लिए सरकार ने आर्थिक पैकेज (Economic Package) भी जारी किया है। इसी के साथ स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने अस्पतालों के कोरोना और गैर-कोरोना विभागों में काम करने वाले हेल्थ वर्कर्स (health workers) के लिए एडवाइजरी जारी की है।

हेल्थ वर्कर्स में कोरोना संक्रमण का खतरा जयादा

स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार- कोरोना संक्रमित मरीजों का इलाज करते समय स्वास्थ्यकर्मी सभी सुरक्षा मानकों का पूरा ध्यान रखें। एडवाइजरी में कहा गया है कि अस्पतालों में काम करने वाले स्वास्थ्य कर्मियों को मरीजों का प्रबंधन करते समय व्यक्तिगत सुरक्षा में कोई कमी होने पर कोरोना संक्रमित होने का खतरा बढ़ जाता है। कई अस्पतालों में स्वास्थ्यकर्मी कोरोना की चपेट में आए हैं।

मेडिकल स्टाफ की जिंदगी कीमती

गाइडलाइंस में कहा गया है कि स्वास्थ्यकर्मियोंऔर मेडिकल स्टाफ की जिंदगी मूल्यवान है। ऐसे में अस्पताल अपनी अस्पताल संक्रमण नियंत्रण समिति (HICC)को सक्रिय करेंगे। HICC स्वास्थ्य सुविधा में संक्रमण निवारण और नियंत्रण (IPC) गतिविधियों को लागू करने और HCW के लिए आईपीसी पर नियमित प्रशिक्षण आयोजित करने के लिए जिम्मेदार होगी।

अस्पताल प्रबंधन नियुक्त करें नोडल अफसर

एडवाइजरी में अस्पताल प्रबंधन को नोडल अफसर नियुक्त करने को कहा गया है। गाइडलाइन के अनुसार- हेल्थकेयर एसोसिएटेड इंफेक्शंस (HAIs) से संबंधित सभी मामलों से निपटने के लिए अस्पताल प्रबंधन की ओर से एक नोडल ऑफिसर (संक्रमण नियंत्रण अधिकारी) नियुक्त किया जाए। ये नोडल अधिकारी स्वास्थ्य कर्मियों में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए वह यह सुनिश्चित करेंगे कि हेल्थ वर्कर्स पीपीई का उपयोग कर रहे हैं या नहीं।

कोरोना के खिलाफ लड़ाई में हेल्थ वर्कर्स की बड़ी भूमिका

गौर हो, देश में कोरोना के खिलाफ लड़ाई में फ्रंटलाइन वर्कर्स बड़ी भूमिका निभा रहे हैं। इसलिए पीएम नरेंद्र मोदी ने इनका मनोबल बढ़ाने की हमेशा अपील की है। कोरोना वॉरियर्स कहकर इनका हौसला बढ़ाया जा रहा है। स्वास्थ्यकर्मी अपनी जान को जोखिम में डालकर लोगों के स्वास्थ्य का ख्याल रख रहे हैं।

Navyavesh Navrahi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned