Coronavirus Outbreak: पीएम मोदी के संबोधन में लॉक डाउन नहीं, हवाई जहाज और रेल थमने की संभावना

— कोरोना वायरस को हेल्थ इमरजेंसी घोषित कर सकती है सरकार
— प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आज रात 8 बजे देश के नाम संबोधन
— प्रधानमंत्री खुद कर सकते हैं इस तैयारी की घोषणा, देश में कोरोना तीसरे स्टेज की ओर
— प्रधानमंत्री मंत्री समूह के साथ बैठेंगे, तैयारियों की समीक्षा होगी

नई दिल्ली.
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज रात आठ बजे देश के नाम संबोधन देेंगे। वह क्या बात करेंगे, इसको लेकर अभी तक कुछ भी स्पष्ट नहीं किया गया है। लेकिन एक बात सामने आ रही है कि वह कोरोना वायरस से बिगड़ते हालातों पर चर्चा करेंगे। संभव है कि कोरोना को लेकर देश के सामने मेडिकल इमरजेंसी घोषित की जा सकती है। जिसके पहले चरण में देश के भीतर हवाई जहाज और रेल की सेवाओं को अस्थाई तौर पर बंद कर दिया जाए या फिर इसको सीमित कर दिया जाए। प्रधानमंत्री के संबोधन से पहले शाम चार बजे मंत्री समूह की बैठक बुलाई गई है, जिसमें कोरोना वायरस को लेकर सरकारी तैयारियों पर बात होगी। कुल मिलाकर सरकार देश के भीतर लॉक डाउन की ओर बढ़ रही है। हालांकि यह सीधे तौर पर नहीं होगा, बल्कि परिवहन के साधनों को रोककर करेंगे। वहीं, पंजाब समेत कई राज्यों ने अपने यहां पर सरकारी और निजी बसों का परिवहन रोक दिया है।


थम सकते हैं रेल और हवाई जहाज
अगर सरकारी सूत्रों पर भरोसा करें तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का देश के नाम संबोधन कुछ बड़ी घोषणाओं को ध्यान में रखकर होगा। माना जा रहा है कि सरकार लॉक डाउन की ओर बढ़ रही है। इसी के तहत परिवहन के साधनों पर रोक लगाने की तैयारी की जा रही है। पहले चरण में हवाई जहाज और रेल के पहियों को थामने का ऐलान आज खुद प्रधानमंत्री कर सकते हैं। इसके अलावा प्रधानमंत्री देश में स्वास्थ्य सुविधाओं को लेकर सरकारी तैयारियों की जानकारी भी दे सकते हैं।

घबराएं नहीं, साथ आएं
प्रधानमंत्री के भाषण की थीम घबराएं नहीं, साथ आएं पर तैयार की गई है। प्रधानमंत्री अपने भाषण में यह समझाने का प्रयास करेंगे कि देश इस हालात से निपटने के लिए सक्षम है। सभी लोग इसमें साथ आएं और सरकारी प्रयासों के साथ खड़े हों। इसको लेकर किसी तरह का तनाव न लें और न ही भ्रम फैलाएं। सावधानी और सतर्कता के सहारे कोरोना वायरस को देश से बाहर करने में मदद करें।

अगले 14 दिन महत्वपूर्ण
देश स्टेज थ्री की ओर बढ़ रहा है। ऐसे में अगले 14 दिन सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण हैं। डॉक्टरों का कहना है कि कोरोना का वायरस किसी भी शरीर में 14 दिनों तक जिंदा रहता है। ऐसे में अगर हम आज से इसे रोकने का प्रयास करते हैं और अगले 14 दिन कोई नए मामले सामने नहीं आते हैं तो फिर हम बड़ी लड़ाई जीतने में सफल होंगे। लेकिन अगर यह 14 दिन गंभीरता नहीं दिखाई तो फिर हालात बुरी तरह सेे बिगड़ सकते हैं। दरअसल, यह वायरस लोगों के संपर्क में आने से फैलता है।

shailendra tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned