Coronavirus: लॉकडाउन की धज्जियां उड़ाते लोगों का वीडियो वायरल, बेबस नजर आई पुलिस

HIGHLIGHTS:

  • कोरोना के खिलाफ लड़ाई के लिए संपूर्ण देश लॉकडाउन
  • मुंबई-दिल्ली-बैंगलुरु में लॉकडाउन की धज्जियां उड़ाते दिखे लोग
  • मुंबई के मोहम्मद अली रोड पर दिखी भारी भीड़

नई दिल्ली। कोरोना से देश-दुनिया में हाहाकार मचा है और इस वायरस ने अब तक दुनियाभर में 23 हजार से अधिक लोगों की जान ले ली है। भारत में भी लगातार कोरोना अपना पैर पसारते हुए तेजी के साथ आगे बढ़ रहा है। लेकिन सरकार ने इसे फैलने से रोकने के लिए जरूरी और सख्त कदम उठाए हैं। सरकार ने 14 अप्रैल तक संपूर्ण देश में लॉकडाउन घोषित कर दिया है। यानी कि अब कोई भी जो जरूरी सेवा में कार्यरत न हो वह अपने घरों में ही रहें और इस वायरस को फैलने से रोकें। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाथ जोड़ कर बार-बार अपील भी की। पीएम ने कहा अभी इस वायरस से निपटने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग ही सबसे जरूरी और कारगर उपाय है। लेकिन देश के कुछ ऐसे लोग हैं जो इस वायरस की गंभीरता को समझना ही नहीं चाहते हैं। तभी तो पीएम की अपील और सख्त आदेश के बाद भी लोग मानने को तैयार नहीं हैं। इसका जीता-जागता उदाहरण कई जगहों पर देखने को मिला। राजधानी दिल्ली हो या आर्थिक राजधानी मुंबई, या फिर आईटी सिटी के नाम से मशहूर बैंगलुरू। हर जगह की कहानी एक जैसी ही है।

हालांकि देश में लॉकडान का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ सख्ती भी की जा रही है। किसी को उठक-बैठक कराया जा रहा है तो किसी से पुसअप करवाया जा रहा है। इतना ही नहीं, उत्तर प्रदेश हो या बिहार या फिर मध्य प्रदेश, पंजाब इन राज्यों में लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों के साथ पुलिस ने सख्ती दिखाते हुए डंडे भी बरसाए हैं। इन सबके बीच मुंबई से जो तस्वीर और वीडियो सामने आया है वह बहुत ही हैरान करने वाला है। मुंबई के मोहम्मद अली रोड पर पुलिस लोगों के सामने लाचार और बेबस नजर आ रही है। पुलिस लोगों से अपील कर रही है कि वे सभी अपने-अपने घरों में चलें जाएं.. कोरोनो के खिलाफ लड़ाई में हमारा साथ थे.. यदि ऐसा नहीं करेंगे तो कोई नहीं बचेगा। इसके अलावा बैंगलुरु के शिवजी नगर में भी ऐसा ही कुछ नजारा देखने को मिला है। लोग लॉकडाउन का उल्लंघन करते हुए भारी संख्या में सड़कों पर दिखाई दे रहे हैं। लोग आराम से खाना खाते या अन्य कामों में व्यस्त नजर आ रहे हैं।

राजधानी दिल्ली में भी कुछ ऐसा ही नजारा देखने को मिला है। दिल्ली के जाकिर नगर में लोग लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाते हुए दिखे। इन लोगों को न तो कई रोकने वाला है और न ही टोकने वाला है।

अब ऐसे में सवाल उठता है कि आखिर कोरोना जैसी महामारी को रोकने के लिए क्या सिर्फ सरकार जवाबदेह है? क्या एक जागरुक नागरिक होने के नाते हमारा दायित्व और कर्तव्य नहीं है? क्या सरकार ने ऐसे लोगों से निपटने के लिए कोई खास इंतेजाम क्या है? क्यों नहीं पुलिस प्रशासन ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई कर रही है, जो कोरोना जैसे महामारी को हल्के में लेकर देश को संकट में डालने की कोशिश कर रहे हैं? आखिर एक तरफ जहां कई जगहों पर सरकार और प्रशासन सख्त कार्रवाई कर रही है, वहीं दूसरी और इस तरह की लापरवाही करने वालों के साथ क्यों नहीं सख्ती से निपट रही है? शाम होते ही प्रशासन और पुुलिस कहां चली जाती है? आखिर नियमों का उल्लंघन कर देश को मुसीबत में डालने वाले ऐसे लोग और अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई कब होगी?

आपको बता दें कि ये वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। पत्रिका का इस वीडियो से कोई संबंध नहीं है। लेकिन पत्रिका इस वायरल वीडियो के माध्यम से देश के नागरिकों से कुछ सवाल पूछता है.. क्या हम अपने परिवार के लिए घर के अंदर रहकर लॉकडाउन का पालन नहीं कर सकते?, क्या देश के लिए लॉकडाउन का पालन नहीं कर सकते? क्या अपने बच्चों के भविष्य के लिए लॉकडाउन का पालन नहीं कर सकते?

Coronavirus in india
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned