कोरोना संकट के बीच ये लोग आपकी सेवा में हैं तैयार, PM मोदी ने इनके लिए की प्रार्थना

  • कोरोना ( Coronavirus ) संकट के बीच 'कोरोना कमांडर्स' आपकी सेवा के लिए हमेशा तैयार
  • स्वास्थ्य, साफ-सफाई और खाने-पीने जैसी मूलभूत सुविधाएं पहुंचेगी घरों तक
  • पीएम मोदी ( PM Modi ) ने इन कमांडर्स के लिए की प्रार्थना

नई दिल्ली। कोरोना वायरस ( coronavirus ) के कारण भारत ( India ) में स्थिति बेहद खराब होती जा रही है। मामले की गंभीरता को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ( PM Modi ) के ऐलान के बाद अगामी 14 अप्रैल तक देश में लॉकडॉउन ( LockDown ) शुरू हो गया है। इतना ही नहीं कुछ राज्यों में धारा 144 ( Section 144 ) पर लागू कर दी गई है। इसके अलावा कुछ प्रदेशों में कर्फ्यू भी लगा दिया है। हालांकि, कोरोना संकट के बीच स्वास्थ्य, साफ-सफाई और खाने-पीने जैसी मूलभूत सुविधाओं को आपके घरों तक पहुंचाने के लिए सरकार पूरी तरह तैयार है। इसके लिए इन विभागों के लोग हमेशा आपके लिए तैयार हैं।

देश में 21 दिन के लॉकडाउन के बीच नवरात्र के पहले दिन पीएम नरेंद्र मोदी ने इन कोरोना वीरों के लिए प्रार्थना की है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इन विभागों के लोगों को लेकर ट्वीट भी किया है। पीएम ने लिखा,' आज से नवरात्रि शुरू हो रही है। वर्षों से मैं मां की आराधना करता आ रहा हूं। इस बार की साधना मैं मानवता की उपासना करने वाले सभी नर्स, डॉक्टर, मेडिकल स्टाफ, पुलिसकर्मी और मीडियाकर्मी, जो कोरोना के खिलाफ लड़ाई में जुटे हैं, के उत्तम स्वास्थ्य, सुरक्षा एवं सिद्धि को समर्पित करता हूं।'

लेकिन, इन सेवा कर्मियों की काफी बढ़ गई है। आलम ये है कि कोरोना जैसे जानलेवा वायरस से बचाव के लिए ये जरूरी सुविधाओं का इस्तेमाल भी नहीं कर पाते। दिल्ली नगर निगम के कर्मचारियों की संस्था यूनाइटेड फ्रंट ऑफ म्यूनिसिपल कॉर्पोरेशंस ऑफ दिल्ली एंप्लॉयीज के कर्मचारी का कहना है कि पूरी दुनिया में कोरोना का खौफ है कि लेकिन हममें से ज्यादातर कर्मी बिना मास्क और ग्लव्स पहने काम कर रहे हैं। अधिकारी ये सभी उपकरण देने का दावा कर सकते हैं, लेकिन सड़कें साफ करने के साथ-साथ सफाई के दूसरे काम का हम पर इतना दबाव होता है कि हम शायद ही इन सब चीजों के इस्तेमाल के बारे में सोच पाते हैं।

वहीं, साफ-सफाई कने वाले एक कर्मचारी का कहना है कि वो सुबह कूड़ा उठाते हैं और फिर दिन में सैनिटरी डिपार्टमेंट का काम संभालते हैं। इस दौरान सोशल डिस्टेंस मेंटेन करना काफी मुश्किल हो जाता है। एक राशन डीलर का कहना है कि उन्हें गरीबों को सस्ते दाम में सरकारी अनाज बांटना होता है। इस दौरान सोशल डिस्टेंस मेंटेन करना काफी कठिन हो जाता है। वहीं, कई सब्जी मंडी में भी एक साथ भीड़ जमा हो जाती है। काफी सावधानी बरतने के बावजूद भी सोशल डिस्टेंड मेंटेन नहीं हो पाता है। लिहाजा, इस दौरान इन लोगों के अपनी रक्षा करना किसी बड़ी चुनौती से कम नहीं है।

Kaushlendra Pathak Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned