दीपक तलवार की बढ़ी मुश्किलें, 2 दिनों की बढ़ाई गई ईडी हिरासत

दीपक तलवार की बढ़ी मुश्किलें, 2 दिनों की बढ़ाई गई ईडी हिरासत

Prashant Kumar Jha | Publish: Feb, 12 2019 07:32:41 PM (IST) | Updated: Feb, 13 2019 07:23:58 AM (IST) इंडिया की अन्‍य खबरें

गौरतलब है कि दीपक तलवार को ईडी की हिरासत अवधि समाप्त होने पर अदालत के समक्ष पेश किया गया था।

 

नई दिल्ली: कॉरपोरेट लॉबिस्ट दीपक तलवार की मुसीबत बढ़ती जा रही है। दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट ने दीपक तलवार की हिरासत बढ़ा दी है। कोर्ट ने मनी लॉंड्रिंग मामले में पूछताछ के लिए प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) को दो और दिनों की इजाजत दिया है। विशेष न्यायाधीश भरत पराशर ने प्रवर्तन निदेशालय की मांग पर तलवार की ईडी हिरासत बढ़ा दिया है। जांच एजेंसी ने विशेष न्यायाधीश से कहा कि दीपक तलवार का मामले से जुड़े दो लोगों से सामना कराए जाने के लिए जरूरत है।

 

तलवार का 30 जनवरी को हुआ है प्रत्यर्पण

गौरतलब है कि दीपक तलवार को ईडी की हिरासत अवधि समाप्त होने पर अदालत के समक्ष पेश किया गया था। तलवार को संयुक्त अरब अमीरात से प्रत्यर्पित करके 30 जनवरी को लाया गया था। उसे 31 जनवरी को अदालत के समक्ष पेश किया गया। अदालत ने तलवार को ईडी की सात दिनों की हिरासत में भेज दिया था। ईडी ने कहा कि सिंगापुर में तलवार की कंपनी के एक बैंक खाते में कथित रूप से 200 करोड़ रुपए जमा कराए गए थे और एयर इंडिया के लाभदायक मार्गों पर सीट बंटवारे के मामले में विदेशी एयरलाइनों को फायदा पहुंचाने में उसकी संदिग्ध भूमिका की जांच की जा रही है।

तलवार पर मनी लॉंड्रिंग का मामला

भारतीय एजेंसियों द्वारा तलवार के खिलाफ 1,000 करोड़ रुपए से अधिक की आय छुपाने और संप्रग कार्यकाल के दौरान विमानन क्षेत्र में कांट्रेक्ट दिलवाने के मामले की जांच शुरू करने के बाद वह दुबई भाग गया था। तलवार पर विमानन क्षेत्र के सौदे में दलाली करने, विदेशी कंपनियों के लिए सरकारी मंजूरी लेने और संप्रग कार्यकाल के दौरान अधिकारियों से संबंध के दम पर क्लाइंट को फायदा पहुंचाने के आरोप हैं।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned