Good News : भारत ने बना ली पहली Corona वैक्सीन, अगले महीने होगा इंसानों पर ट्रायल

Highlights
- Coronavirus संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 5,66,841 पर पहुंच गई है
- साथ ही मृतकों की संख्या बढ़कर 16,893 पर पहुंच गई है
- महामारी को फैलने से रोकने के लिए अभी तक कोई वैक्सीन (Corona Vaccines) व दवा का ईजाद नहीं हो पाया है

नई दिल्ली. देश में कोरोना (Coronavirus in india) संक्रमण मामले थमने का नाम ही नहीं ले रहे हैं। मंगलवार की सुबह स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार पिछले 24 घंटों में कोरोना संक्रमितों की संख्या में 18522 की बढ़ोतरी हुई है साथ ही 418 लोगों की मौत हुई है। संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 5,66,841 पर पहुंच गई है। साथ ही मृतकों की संख्या बढ़कर 16,893 पर पहुंच गई है। इसके अलावा 3,34,822 लोग इस वायरस को मात देने में कामयाब रहे हैं।


कोरोना वायरस के फैलने का सबसे बड़ा कारण यही है कि इस महामारी को फैलने से रोकने के लिए अभी तक कोई वैक्सीन (Corona Vaccines) व दवा का ईजाद नहीं हो पाया है। दुनिया भर के तमाम वैज्ञानिक इसी दवा को लेकर रिसर्च कर रहे हैं। इसी क्रम में भारत में कोरोना वायरस की पहली वैक्सीन बनाई गई है। वैक्सीन निर्माता भारत बायोटेक ने सोमवार को घोषणा की कि उसने सफलतापूर्वक कोरोना वायरस की वैक्‍सीन COVAXIN बना ली है।

इसे इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) और नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी, पुणे के साथ मिलकर सफलतापूर्वक बनाया गया है। ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ने ‘कोवैक्सीन’ के ह्यूमन ट्रायल को मंजूरी दे दी है।

इन्होंने दी ट्रायल शुरू करने की अनुमति

इस वैक्सीन का ट्रायल शुरू करने की अनुमति ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया, सेंट्रल ड्रग्स स्टैंडर्ड कंट्रोल ऑर्गनाइजेशन (सीडीएससीओ), स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने फेस 1 और फेस 2 ह्यूमन क्लीनिकल ने दे दी है। इसके पहले कंपनी ने प्रीक्लीनिकल स्टडीज से प्राप्त परिणाम सौंपे थे। ह्यूमन क्लीनिकल ट्रायल अगले महीने पूरे भारत में शुरू होने वाले हैं।

कंपनी ने जारी किया बयान

कंपनी ने जानकारी देते हुए बताया कि अगले महीने जुलाई से इस वैक्‍सीन का इंसानों पर ट्रायल शुरू हो जाएगा। कंपनी की तरफ से जारी एक बयान में कहा गया है कि ''भारत बायोटेक की ओर से जारी बयान के मुताबिक, वैक्सीन को हैदराबाद के जीनोम वैली के बीएसएल-3 (बायो-सेफ्टी लेवल 3) हाई कंटेनमेंट फैसिलिटी में तैयार किया गया है। ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया, सेंट्रल ड्रग्स स्टैंडर्ड कंट्रोल ऑर्गनाइजेशन (सीडीएससीओ) और स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने पहले और दूसरे चरण का ह्यूमन ट्रायल शुरू करने की मंजूरी दे दी है।''

चेयरमैन ने हमे गर्व है

भारत बायोटेक के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक, डॉ. कृष्णा एला ने कहा, ''हम कोविड-19 के खिलाफ भारत के पहले घरेलू स्तर पर विकसित वैक्सीन COVAXIN की घोषणा करने गर्व है। इस वैक्सीन के विकास में आईसीएमआर और एनआईवी की सहभागिता महत्वपूर्ण रही है। सीडीएससीओ के सक्रिय समर्थन और मार्गदर्शन से इस परियोजना को स्वीकृति मिल पाई। हमारे आर एंड डी और विनिर्माण टीमों ने इस प्लेटफार्म की दिशा में हमारी खुद की प्रौद्योगिकियों की तैनाती में अथक परिश्रम किया।''

Ruchi Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned