गोवा की तरफ बढ़ रहे दो तूफानः कई राज्यों में भारी बारिश का अलर्ट, ठंडी हवाओं के साथ लुढ़केगा पारा

गोवा की तरफ बढ़ रहे दो तूफानः कई राज्यों में भारी बारिश का अलर्ट, ठंडी हवाओं के साथ लुढ़केगा पारा

Dhiraj Kumar Sharma | Publish: Oct, 14 2018 07:51:18 AM (IST) | Updated: Oct, 14 2018 07:51:19 AM (IST) इंडिया की अन्‍य खबरें

गोवा की तरफ बढ़ रहे दो तूफानः कई राज्यों में भारी बारिश का अलर्ट, ठंडी हवाओं के साथ लुढ़केगा पारा

नई दिल्ली। मौसम विभाग ने ओडिशा और आंध्र प्रदेश के बाद अब गोवा में तूफान की आशंका जताई है। विभाग के मुताबिक गोवा में दो चक्रवाती तूफान लुबान और तितली का असर देखने को मिल सकता है। एहतियातन प्रशासन ने आम लोगों को अगले कुछ दिनों तक समुद्री तट से दूर रहने को कहा है. अरब सागर में लो प्रेशर से बने चक्रवातीय तूफान 'लुबान' का खतरा अभी टला नही है। मौसम वैज्ञानिकों की मानें तो यह आने वाले कुछ घंटों में पश्चिम-उत्तर पश्चिम से होते हुए यमन तट की ओर बढ़ जाएगा लेकिन एक फ्रेश वेस्टर्न डिस्टर्बेंस की वजह से एक बार फिर से यह खतरनाक रूप धारण कर सकता है।


लुबान के चलते अगले 24 घंटों में उत्तर-पश्चिम के राज्यों के प्रभावित होने की संभावना है। ऐसे में जम्मू-कश्मीर, पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड इसकी चपेट में आ सकते हैं। आपको बता दें इससे पहले ओडिशा और आंध्र प्रदेश में आए तितली तूफान की वजह से जान और माल का नुकसान हुआ था। करीब 12 लोगों ने अपनी जान गंवाई जबकि कई लोग लापता हैं।

पश्चिम विक्षोभ से उत्तर-पश्चिम के राज्यों में भारी बारिश के साथ ही हवाओं की रफ्तार काफी तेज हो सकती है। वहीं मौसम वैज्ञानिकों ने लुबान तूफान और बारिश को देखते हुए मछुआरों को अगले 24 घंटों के दौरान पश्चिम मध्यअरब सागर में प्रवेश न करने की सलाह दी है। वहीं बंगाल की खाड़ी से उठे तितली तूफान का असर अभी भी कुछ इलाकों में दिखार्इ दे रहा है। गैंगेटिक वेस्ट बंगाल और इसके आसपास के इलाकों में लो प्रेशर है लेकिन यह काफी हद तक कमजोर हो गया है।

चलेंगी ठंडी हवाएं, बढ़ेगी सर्दी
मौसम में आए बदलाव के बाद जम्मू-कश्मीर में भी बर्फबारी हुई है, इससे देश के उत्तरी इलाकों में मौसम सर्द होगा। ठंडी हवाएं चलेंगी औऱ सर्दी बढ़ेगी। खास तौर पर दिल्ली-एनसीआर वालों के लिए फिछले कुछ दिनों से चल रही गर्मी से उन्हें राहत मिलेगी।

Ad Block is Banned