'तितली' का सायाः स्कूल-कॉलेज बंद, कई ट्रेनें रद्द-कुछ के रूट और समय में किया गया बदलाव

'तितली' का सायाः स्कूल-कॉलेज बंद, कई ट्रेनें रद्द-कुछ के रूट और समय में किया गया बदलाव

चक्रवाती तूफान तितली के ओडिशा में दस्तक देने के साथ ही दिखने लगा असर, स्कूल-कॉलेज बंद, कई ट्रेनें रद्द कुछ के रूट में किय गया बदलाव।

नई दिल्ली। चक्रवाती तूफान तितली ने ओडिशा में दस्तक दे दी है। इसका सीधा असर भी दिखाई देने लगा है। घरों और सड़कों पर पानी जमा होने लगा है। हालांकि प्रशासन को पहले ही मिली चेतावनी के चलते मुस्तैदी से इस चक्रवात का सामना किया है। ऐहतियाद के तौर पर 18 सुरक्षा टीमें तैनात कर दी गई थीं। वहीं इस तूफान के चलते प्रदेशभर के स्कूल, कॉलेज बंद कर दिए हैं। कम से दो दिन तक इसका असर पूरे प्रदेश पर देखने को मिलेगा। स्कूल-कॉलेज के साथ-साथ ट्रेनों पर भी इसका असर पड़ा है। यही नहीं भारत-वेस्टइंडीज के बीच होने जा रहे दूसरे टेस्ट पर भी तितली बाधा डाल सकती है। दरअसल हैदराबाद में दूसरा टेस्ट होना है ऐसी संभावना है कि तितली का असर यहां भी दिखाई देगा।

 

कुछ ट्रेनें रद्द तो कुछ के रूट में बदलाव
ओडिशा सरकार ने तूफान के चलते 11 और 12 तारीख को स्कूल-कॉलेज बंद रखने का फैसला किया है। इसके अलावा तूफान से निपटने की तैयारियों का जायजा लेने के लिए ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने एक उच्चस्तरीय बैठक भी की है। उत्तरी आंध्र प्रदेश और दक्षिणी ओडिशा के तट पर 'तितली' के प्रभाव को देखते हुए कई ट्रेनों को रद्द किया गया है तो वहीं कुछ के रूट में बदलाव किया है।

 

train timing

इन ट्रेनों पर पड़ा असर
उत्तर प्रदेश होते हुए हावड़ा/खड़गपुर की तरफ से आने वाली ट्रेनें भी शाम 5:15 बजे के बाद से अगली सूचना तक भद्रक से आगे नहीं बढ़ेंगी। हैदराबाद/विशाखापट्टनम से चलने वाली डाउन ट्रेनें शाम 6:40 के बाद से दुव्वाड़ा से आगे नहीं बढ़ेंगी। मौसम विभाग के मुताबिक 'तितली' फिलहाल ओडिशा के गोपालपुर से तकरीबन 530 किमी दक्षिण पूर्व और आंध्र प्रदेश के कलिंगपट्नम से 480 किमी दक्षिण पूर्व में है।

 

आंध्रप्रदेश पर भी पड़ेगा असर
बंगाल की खाड़ी में बने दबाव के कारण तटीय इलाकों में चक्रवाती तूफान 'तितली' का खतरा मंडरा रहा है। भारतीय मौसम विभाग ने बुधवार को ही इस तूफान की चेतावनी जारी कर दी है। ऐसे में भारत वेस्ट इंडीज के बीच हैदराबाद में खेले जाने वाला मैच भी प्रभावित हो सकता है। मौसम विभाग ने आशंका जताई है कि इस तूफान के दौरान 145 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलेंगी और इस चक्रवात का सबसे ज्यादा प्रभाव ओडिशा और आंध्र प्रदेश पर ही पड़ेगा। आपको बता दें अगर यह तूफान पूर्वी तटीय इलाकों से टकराता है, तो फिर हैदराबाद में भी बारिश का कहर दिख सकता है और इसका असर भारत-वेस्ट इंडीज टेस्ट पर भी होगा।

Ad Block is Banned