जम्मू कश्मीर: सैनिकों के बीच पहुंची रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण, अग्रिम चौकियों का लिया जायजा

जम्मू कश्मीर: सैनिकों के बीच पहुंची रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण, अग्रिम चौकियों का लिया जायजा

सैनिकों से बातचीत के दौरान रक्षामंत्री ने नियंत्रण रेखा पर चौबीस घंटे सतर्क रहने के लिए सैनिकों के उच्च मनोबल और दक्षता की सराहना की।

नई दिल्ली। रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण ने एकबार फिर जम्मू कश्मीर के सीमावर्ती जिले में स्थित अग्रिम चौकियों का दौरा किया। उन्होंने देश की सीमांत इलाके में तैनात सैनिकों से काफी देर तक बातचीत की। इस दौरान उन्होंने पाकिस्तानी सैनिकों की गतिविधियों और भारतीय जवानों को सरहद पर होने वाली मुश्किलों की जानकारी ली।

यह भी पढ़ें: चंद्रशेखर राव बोले- नहीं भंग होगी तेलंगाना विधानसभा, दिल्ली के आगे आत्मसमर्पण नहीं करेंगे

 

कमांडरों ने दी घुसपैठ रोधी ग्रिड की जानकारी

रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता कर्नल राजेश कालिया ने एक बयान में कहा कि उनके साथ सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत भी थे, जिनकी अगवानी लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह, सेना के उत्तरी कमान के कमांडर एवं लेफ्टिनेंट जनरल ए.के. भट्ट और चिनार कोर के कमांडर ने की। उन्होंने कहा कि उन्हें अभियान की तैयारियों और घुसपैठ रोधी ग्रिड के संबंध में कमांडरों ने जानकारी दी।

यह भी पढ़ें: मोदी के वार पर कांग्रेस का पलटवार,हमारी सरकार में कर्ज डूबा तो 2014 को बाद क्या हो रहा

एलओसी पर तैनात जवानों से जाना सरहद का हाल

सैनिकों से बातचीत के दौरान रक्षामंत्री ने नियंत्रण रेखा पर चौबीस घंटे सतर्क रहने के लिए सैनिकों के उच्च मनोबल और दक्षता की सराहना की। बयान में कहा गया है कि उन्होंने दुश्मन ताकतों के घृणास्पद मनसूबों को हराने के लिए किसी भी स्थिति में सतर्क रहने के लिए उन्हें प्रोत्साहित किया।

यह भी पढ़ें: बांदीपोरा में सेना ने तीन आतंकियों को उतारा मौत के घाट, हथियारों का जखीरा बरामद, एक जवान शहीद

रक्षा मंत्री और सेना प्रमुख ने राज्यपाल से की मुलाकात

इससे पहले रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण और सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक के साथ सुरक्षा हालात पर चर्चा की। रक्षा मंत्री ने मलिक को जम्मू एवं कश्मीर का राज्यपाल नियुक्त किए जाने पर शुभकामनाएं दी। सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत के साथ श्रीनगर स्थित पर राज्यपाल के साथ कश्मीर घाटी में सुरक्षा हालात पर चर्चा की।

Ad Block is Banned