दिल्लीः पहले हुई जामिया के 50 छात्रों की रिहाई, फिर खत्म हुआ PHQ के बाहर प्रदर्शन

  • जामिया इलाके में हालात काबू में
  • जेएमआई के आसपास भारी पुलिस बल तैनात
  • अशांति के मद्देनजर अलीगढ़ और सहारनपुर में भी इंटरनेट सेवा बंद

नई दिल्‍ली। नागरिकता संशोधन कानून ( CAA ) के विरोध में रविवार देर शाम को दिल्ली के जामिया यूनिवर्सिटी के इलाके में जमकर हिंसा हुई। प्रदर्शनकारियों ने कई बसें और बाइक फूंक दी। उपद्रवियों को तितर-बितर करने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा और आंसू गैस के गोले छोड़ने पड़े। इसके बाद पुलिसकर्मियों ने अराजक तत्वों के जामिया मिलिया विश्वविद्यालय में घुसे होने के संदेह पर कैंपस से सभी छात्रों को बाहर निकाल दिया।

दूसरी तरफ जामिया में हुई झड़प में साउथ ईस्ट डीसीपी चिन्मय बिस्वाल, एडिशनल डीसीपी साउथ, 2 एसीबी, 5 एसएचओ और इंसपेक्टर समेत कई पुलिसकर्मी घायल हुए हैं।

दिल्‍ली पुलिस के जन संपर्क अधिकारी एमएस रंधावा ने कहा है कि हिरासत में लिए सभी छात्रों को कालकाजी और न्‍यू फ्रेंड्स कॉलोनी थाने से हिदायत देकर छोड़ दिया गया है।

जामिया मिलिया इस्‍लामिया विश्वविद्यालय ( JMIU ) प्रशासन और छात्रों का आरोप है कि पुलिस ने उनके साथ बर्बरता की। पुलिस के विरोध में रात 9 बजे से पुलिस हेडक्वार्टर के बाहर जामिया और जेएनयू के छात्र प्रदर्शन करने जमा हो गए। पुलिस हेडक्वार्टर के बाहर छात्रों का विरोध प्रदर्शन तड़के साढ़े चार बजे तक चला। इसके बाद छात्र पुलिस हेडक्वार्टर से रवाना हुए।

jmiu_1.jpg

मोदी सरकार दोषी

इस घटना पर राजनीति भी जमकर शुरू हो गई। कांग्रेस ने रात 11.30 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मोदी सरकार को पुलिस कार्रवाई के लिए दोषी ठहराया। रात 12 बजे के करीब वरिष्ठ कांग्रेसी नेता सलमान खुर्शीद छात्रों को समर्थन देने पुलिस हेडक्वार्टर पहुंचे।

इंटरनेट सेवा 16 दिसंबर तक के लिए बंद

दिल्‍ली के जामिया यूनिवर्सिटी का असर यूपी के अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के छात्र भी रविवार शाम छात्रों ने जबरदस्त हंगामा किया। पुलिस ने उन्हें रोकने के लिए लाठीचार्ज किया। साथ ही आंसू गैस का भी इस्तेमाल किया। हालात के मद्देनजर विश्वविद्यालय, 5 जनवरी तक के लिए बंद कर दिया गया है। वहीं इंटरनेट सेवा 16 दिसंबर की रात 10 बजे तक के लिए बंद कर दी गई है।

violence.jpg

बता दें कि जामिया इलाके में हुई घटना में होली फैमिली अस्पताल में कुल 51 छात्र भर्ती कराए गए थे। जिनमें से 41 छात्रों को मामूली उपचार के बाद वापस भेज दिया गया है। जबकि 10 अन्य छात्र अभी भी अस्पताल में भर्ती हैं।

जामिया में बवाल के चलते दिल्ली के 15 मेट्रो स्टेशन बंद कर दिए गए। यहां मेट्रो नहीं रोकी जा रही। वहीं जामिया के आसपास के इलाकों में उत्पात की घटना को देखते हुए सोमवार को सभी स्कूल बंद रखने के आदेश दिए गए हैं।

Dhirendra
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned