दिल्ली के लिए बड़ा आदेश, 31 जनवरी 2021 तक हर फैक्ट्री पीएनजी हो जाए

  • एयर क्वॉलिटी कमिशन ने मंगलवार को बैठक बुलाई और दिए सख्त निर्देश।
  • 31 जनवरी 2021 तक 1,644 औद्योगिक इकाइयां होनी चाहिए पीएनजी।
  • दिल्ली में 50 औद्योगिक क्षेत्रों में फैली इन औद्योगिक इकाइयों की पहचान की जा चुकी है।

नई दिल्ली। एनसीआर और आसपास के क्षेत्रों में वायु गुणवत्ता प्रबंधन के आयोग ने दिल्ली में सभी औद्योगिक इकाइयों को 31 जनवरी तक पाइप्ड नेचुरल गैस (पीएनजी) अपनाने का निर्देश दिया है। अपनी तरह के पहले बड़े हस्तक्षेप में आयोग ने दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति (DPCC) को भी निर्देश दिया है कि प्रदूषणकारी ईंधन का इस्तेमाल करने वाले उद्योगों का निरीक्षण करने और उनकी पहचान करे। इसके साथ ही निर्देश का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कठोर दंडात्मक कार्रवाई की जाए।

मंगलवार को आयोजित एक बैठक में आयोग ने दिल्ली में काम करने वाले उद्योगों के पीएनजी में स्विच करने की प्रगति की समीक्षा की। इस बैठक में दिल्ली सरकार, गैस अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड (गेल) और इंद्रप्रस्थ गैस लिमिटेड (IGL) के प्रतिनिधियों ने भाग लिया।

राजधानी दिल्ली में 50 औद्योगिक क्षेत्रों में फैली लगभग 1,644 औद्योगिक इकाइयों की पहचान पीएनजी में स्विच करने के लिए की गई थी। आयोग ने दिल्ली में चिह्नित सभी उद्योगों को अपना ईंधन पीएनजी में स्विच करने की आवश्यकता पर बल दिया। इसकी वजह इन उद्योगों का राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र या राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में वायु प्रदूषण के प्रमुख योगदानकर्ताओं में से एक होना है।

IGL और GAIL को पाइपलाइन नेटवर्क, मीटरिंग और संबद्ध बुनियादी ढांचे को 31 जनवरी तक पूरा करने का निर्देश दिया गया है।

आयोग के अध्यक्ष और दिल्ली के पूर्व मुख्य सचिव एमएम कुट्टी ने पहले कहा था कि वे लंबे समय तक पराली जलाने की समस्या के समाधान पर काम कर रहे थे, जो इस क्षेत्र की हवा को भी प्रदूषित करते हैं।

अमित कुमार बाजपेयी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned