दिल्ली के सीएम केजरीवाल ने बताया, लोगों को कब से मिलनी शुरू हो जाएगी रूसी वैक्सीन?

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को कहा कि दिल्ली को स्पूतनिक से वैक्सीन मिलने का भरोसा मिला है। संभवत जून में वैक्सीन की कुछ डोज मिलने की उम्मीद है।

नई दिल्ली। कोरोना वैक्सीन की कमी झेल रही दिल्ली को रूस में बनी स्पूतनिक वैक्सीन मिलने की उम्मीद है। आने वाले दिनों में यानी जून महीने के अंदर ही दिल्ली सरकार को स्पूतनिक वैक्सीन मिल सकती है। हालांकि शुरूआत में दिल्ली सरकार को सीमित संख्या में ही यह वैक्सीन उपलब्ध हो सकेगी। दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को कहा कि दिल्ली को स्पूतनिक से वैक्सीन मिलने का भरोसा मिला है। संभवत जून में वैक्सीन की कुछ डोज मिलने की उम्मीद है।

यह भी पढ़ेंः- Vaccination पर SC का केंद्र से सीधा सवाल, Digital Divide पर क्या है केंद्र का ख्याल?

केंद्र को बताया जिम्मेदार
वैक्सीन की कमी पर सीएम ने कहा कि सभी राज्य सरकारें अपनी पूरी कोशिश कर चुकी हैं, लेकिन अभी तक एक भी राज्य अपने स्तर पर एक भी वैक्सीन लाने में सफल नहीं हुआ है। वैक्सीन की खरीद और उत्पादन करना केंद्र सरकार की जिम्मेदारी है। केंद्र, राज्यों को वैक्सीन दे और अगर हम सही से वैक्सीन न लगाएं, तो यह हमारी जिम्मेदारी है। हम जितनी जल्दी और जितने ज्यादा लोगों को वैक्सीन लगा पाएंगे, उतने ही ज्यादा लोगों की जान बचा पाएंगे। गौरतलब है कि भारत में एक फार्मा कंपनी द्वारा स्पूतनिक की शुरूआती खरीद की गई है।

यह भी पढ़ेंः- आखिर दिल्ली हाई कोर्ट ने ट्विटर से क्या-क्या कहा, जानिए यहां

जून के महीने में मिलेगी रूसी वैक्सीन
स्पूतनिक की वैक्सीन को लेकर सीएम ने कहा कि उन्होंने जून के महीने में कुछ वैक्सीन देने का भरोसा दिया है। अभी तो वे भी विदेश से वैक्सीन आयात कर रहे हैं और संभवत अगस्त में उनका उत्पादन शुरू होगा। इस बीच, जितना वो वैक्सीन आयात करेंगे, उसमें से एक हिस्सा दिल्ली को भी देंगे। सीएम अरविंद केजरीवाल ने वैक्सीनेशन को लेकर एक सवाल का जवाब देते हुए कहा कि जल्दी-जल्दी वैक्सीन लगाएंगे, तभी लोगों की जान बचेगी। जितनी जल्दी और जितने ज्यादा लोगों को वैक्सीन लगेगी, उतने ही ज्यादा लोगों की जान बचेगी। हमें तो लोगों को जल्दी से जल्दी वैक्सीन लगानी चाहिए, इसमें गलत क्या है।

यह भी पढ़ेंः- सेंट्रल विस्टा के खिलाफ याचिका खारिज, दिल्ली हाई कोर्ट ने कहा, 'राष्ट्रीय महत्व की है परियोजना'

ग्लोबल टेंडर पर क्या बोले केजरीवाल
मुख्यमंत्री ने ग्लोबल टेंडर के जरिए वैक्सीन खरीदने के सवाल पर कहा कि एक से डेढ़ महीने हो गए हैं, जब केंद्र सरकार ने कहा था कि सभी राज्य अपने-अपने स्तर पर वैक्सीन की खरीद करेंगे। देश में 36 राज्य और केंद्र शासित प्रदेश हैं। सभी ने वैक्सीन खरीदने के लिए अपनी पूरी कोशिश कर ली है। मैं किसी एक पार्टी की सरकार की बात नहीं कर रहा हूं, बल्कि सभी पार्टियों की सभी राज्य सरकारों ने कोशिश करके देख ली है। सभी ने ग्लोबल टेंडर भी कर लिए, लेकिन अभी तक एक भी राज्य अपने स्तर पर वैक्सीन का एक भी टीका लाने में सफल हुआ हो, तो मुझे बताइए।

यह भी पढ़ेंः- 6 साल में चौथी बार देरी से होगी मानसून की एंट्री, मौसम विभाग ने बताई बड़ी वजह

वैक्सीन खरीदना केंद्र का काम
उन्होंने कहा कि जाहिर तौर पर राज्य सरकारें वैक्सीन को खरीद नहीं सकती हैं। यह काम केंद्र सरकार को करना पड़ेगा। केंद्र सरकार दुनिया भर से वैक्सीन की खरीद करे। साथ ही, देश में वृहद स्तर पर उत्पादन करे और राज्य सरकारों को दे। इसके बाद लोगों को हम वैक्सीन न लगाएं, तो हमारी जिम्मेदारी हैं। हम वैक्सीनेशन की उचित व्यवस्था न करें, तो हमारी जिम्मेदारी है। मुझे लगता है कि वैक्सीन की खरीद करना और उत्पादन करना केंद्र सरकार की जिम्मेदारी है। इसके बाद केंद्र सरकार राज्यों को वैक्सीन बांटे और राज्य सरकारों की जिम्मेदारी है कि वह लोगों को अच्छी तरह से वैक्सीन लगाए।

Show More
Saurabh Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned