Weather Update: दिल्लीवालों पर सूरज का कहर, सात साल बाद लू के थपेड़े

  • COVID-19 Lockdown in India के बीच गर्मी का सितम।
  • इससे पहले वर्ष 2013 में छह दिनों तक लू ने किया था परेशान।
  • Indian Met Department ने गुरुवार को भी Delhi में लू चलने की जताई है संभावना।

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के प्रकोप ( COVID-19 Lockdown in India ) को रोकने के लिए लागू लॉकडाउन ने भले ही प्रकृति को खूबसूरत और स्वच्छ कर दिया हो, लेकिन पिछले कुछ दिनों से सूरज अपना कहर ( Heat wave ) बरपाना जारी रखे हुए है। राजधानी दिल्ली ( Delhi ) में तो बीते तीन दिनों से लोगों को लू जबर्दस्त ढंग से सता रही है। बीते सात वर्षों में ऐसा पहली बार हुआ है जब लू से लोग परेशान हो रहे हैं। Indian Met Department के मुताबिक बुधवार को राजधानी का अधिकतम तापमान ( Delhi Weather ) सामान्य से पांच डिग्री ज्यादा 45.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जबकि न्यूनतम 28.4 डिग्री।

हो गया बड़ा खुलासा, सामने आई श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के रास्ता भटकने की वजह

जानकारी के मुताबिक इस बार पड़ी लू ने वर्ष 2013 की याद ताजा कर दी है। सात वर्ष पहले मई 2013 के दौरान छह दिनों तक लू के थपेड़ों ने लोगों को परेशान किया था। उस वक्त लू के कहर ने लोगों को घरों में दुबकने या फिर पूरी तैयारी के साथ बाहर निकलने पर मजबूर कर दिया था।

इसके बाद वर्ष 2014 में मई माह के दौरान लू चलने का कोई वाक्या सामने नहीं आया। जबकि वर्ष 2015 में लू से परेशानी वाले दो दिनों का ही लोगों को सामने करना पड़ा था। इसके बाद 2016 में एक दिन के लिए तो 2017 में फिर दो दिन के लिए लू का कहर लोगों पर पड़ा। फिर 2018 और 2019 में केवल एक-एक दिन ही लू के थपेड़े दिल्लीवालों के लिए सितम बने।

हालांकि इस बार ना केवल लू परेशान कर रही है बल्कि दिल्ली का तापमान भी लगातार बढ़ रहा है। एक सप्ताह के भीतर मौसम में 5 से 6 डिग्री सेल्सियस तक की वृद्धि रिकॉर्ड की गई है। भारतीय मौसम विभाग ने संभावना जताई है कि बृहस्पतिवार को भी राजधानी में तमाम स्थानों पर लू चल सकती है। जबकि बुधवार को तो लू ने अपना खतरनाक रूप तो दिखाया ही था।

तीन महीने से भी ज्यादा वक्त बाद देश में कोरोना वायरस का अनोखा केस आया सामने, घोड़े को किया क्वारंटाइन

गौरतलब है कि मई में बढ़ती गर्मी का आलम यह है कि बुधवार को देश में राजस्थान के चूरू में पारा 50 डिग्री सेल्सियस के नजदीक (49.6 डिग्री) पहुंच गया। जबकि दिल्ली के पालम में तापमान 47.2 डिग्री दर्ज किया गया। भारतीय मौसम विभाग ( IMD ) के मुताबिक पश्चिमी राजस्थान के चूरू के बाद दूसरे नंबर पर गंगानगर में 48.9 डिग्री तापमान रहा। 48.0 डिग्री के साथ बीकानेर तीसरे नंबर पर रहा। जबकि चौथे नंबर पर 47.2 डिग्री सेल्सियस पारे के साथ पूर्वी राजस्थान का कोटा और दिल्ली का पालम संयुक्त रूप से मौजूद रहा।

पांचवे नंबर पर गर्मी की मार 46.8 डिग्री के साथ पूर्वी उत्तर प्रदेश के बांदा में तो छठे नंबर पर इलाहाबाद में 46.8 डिग्री के साथ लोगों को झेलनी पड़ी। सातवें नंबर पर पश्चिमी उत्तर प्रदेश के झांसी में 46.7 डिग्री तापमान दर्ज किया गया। आठवें पायदान पर 46.4 डिग्री के साथ विदर्भ का चंदरपुर रहा। नौवें नंबर पर 46.3 डिग्री तापमान हरियाणा के हिसार में रिकॉर्ड किया गया, तो दसवें नंबर पर 46.2 डिग्री तापमान पूर्वी मध्य प्रदेश के नौगांग में रिकॉर्ड हुआ।

weather update
Show More
अमित कुमार बाजपेयी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned