क्रूड कीमतें आधी फिर भी पेट्रोल 3 साल में सबसे महंगा, मंत्री बोले- कुछ नहीं कर सकते

ashutosh tiwari

Publish: Sep, 13 2017 07:12:37 (IST) | Updated: Sep, 13 2017 09:29:26 (IST)

Miscellenous India
क्रूड कीमतें आधी फिर भी पेट्रोल 3 साल में सबसे महंगा, मंत्री बोले- कुछ नहीं कर सकते

पेट्रोलिय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि सरकार चाहती है कि पेट्रोलियम पदार्थों को जीएसटी के अंतर्गत लाया जाए।

नई दिल्ली। प्रधानमंत्रनरेंद्र मोदी के 2014 में सत्ता संभालने के बाद डीजल-पेट्रोल की कीमतें बीते तीन साल में सबसे ऊंचे स्तर पर पहुंच गई हैं, जबकि अंतरराष्ट्रीय बाजार में तीन साल पहले के मुकाबले कच्चे तेल की कीमतें अब आधी (करीब 53 फीसदी) रह गई हैं। हालांकि, डीजल-पेट्रोल की कीमतों में लगातार इजाफे पर मोदी सरकार ने हाथ खड़े करे लिए हैं। केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने साफ तौर पर पेट्रोलियम बेचने वाली कंपनियों पर लगाम लगाने से इनकार कर दिया है। उन्होंने कहा है कि इन कंपनियों में दखल देने के बारे में सरकार कोई विचार नहीं कर रही है। अगस्त, 2014 के बाद मुंबई में तो पेट्रोल की कीमतें बुधवार को करीब 80 रुपए प्रति लीटर के उच्चतम स्तर पर पहुंच गईं। इसी तरह, कोलकाता और चेन्नई में बीते तीन सालों के उच्चतम स्तर पर डीजल की कीमतें पहुंच गईं, जहां उनकी कीमत क्रमश: 61.37 रुपए और 61.84 रुपए प्रति लीटर हो गई हैं। पेट्रोल-डीजल के दामों में बेतहाशा बढ़ोतरी के पीछे तीन वर्षों के दौरान सरकार की ओर से पेट्रोल, डीजल पर एक्साइज ड्यूटी कई गुना बढ़ाना भी बताया जा रहा है।

पेट्रोलियम मंत्री ने क्या कहा?
उन्होंने रोजाना दाम तय करने की नीति का बचाव करते हुए कहा कि डायनॉमिक तेल कीमत निर्धारण प्रक्रिया उपभोक्ताओं के लिए बेहतर पारदर्शी मॉडल है। इसमें बदलाव नहीं किया जा सकता है। क्योंकि यह बाजार से जुड़ी हैं। हालांकि, उन्होंने यह भी कहा है कि पेट्रोल-डीजल की कीमतों का वैश्विक आकलन करने के बाद इसे जल्द ही ठीक कर लिया जाएगा।

आर्थिक राजधानी में पेट्रोल ने लगाई आग
दिल्ली में पेट्रोल 70.38 रुपए और डीजल 58.72 रुपए प्रति लीटर पर पहुंच गया। वहीं, देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में तो पेट्रोल की कीमत में जैसे आग ही लग गई है। मुंबई में पेट्रोल की कीमत 79.48 रुपए प्रति लीटर हो गई है। इसके अलावा, डीजल की कीमत 62.37 रुपए प्रति लीटर है। इनके अलावा, कोलकाता में भी बुरा हाल है। यहां पर पेट्रोल की कीमत 73.12 रुपए प्रति लीटर है। जबकि चेन्नई में पेट्रोल की कीमत 72.95 रुपए प्रति लीटर है।

डेली डायनॉमिक प्राइसिंग से निराशा
7 जून 2014 को दिल्ली में पेट्रोल 71.51 रुपए जबकि डीजल 57.28 रुपए प्रति लीटर था। इसी साल 1 मई से पुड़चेरी, विशाखापत्तनम, उदयपुर, जमशेदपुर और चंडीगढ़ के 109 पेट्रोल पंपों पर डेली डायनॉमिक प्राइसिंग लागू की गई थी। इस व्यवस्था को 16 जून से पूरे देश में लागू कर दिया गया। इसके तहत अब रोज सुबह 6 बजे पेट्रोल-डीजल के दाम बदल जाते हैं।

54 डॉलर प्रति बैरल पर आया कच्चा तेल
मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक, 1 जुलाई 2014 को कच्चा तेल 112 डॉलर प्रति बैरल पर बिक रहा था और उस समय पेट्रोल के दाम 73.60 रुपए प्रति लीटर थे। वहीं दूसरी ओर, 1 अगस्त 2014 को डीजल की कीमत 58.40 रुपए प्रति लीटर थी। वहीं, बुधवार को कच्चे तेल की कीमत अंतरराष्ट्रीय बाजार में 54 डॉलर प्रति बैरल हो गई है। मंगलवार को था ये हाल दिल्ली में मंगलवार को पेट्रोल 70.38 रुपए प्रति लीटर बिक रहा है, वहीं दूसरी ओर, डीजल की कीमत 58.72 रुपए प्रति लीटर है।

ऐसे बढ़ी एक्साइज ड्यूटी
बीते तीन वर्षों में मोदी सरकार ने डीजल-पेट्रोल पर लगने वाली एक्साइज ड्यूटी भी कई गुना बढ़ा दी है। वहीं, पेट्रोल पर एक्साइज ड्यूटी को 10 रुपए प्रति लीटर से बढ़ाकर करीब 22 रुपए प्रति लीटर तक बढ़ा दिया गया है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned