नई सिम के लिए अब जरूरी नहीं आधार, आईडी-एड्रेस प्रूफ पेश करने पर ही मिल जाएगा कनेक्शन

नई सिम के लिए अब जरूरी नहीं आधार, आईडी-एड्रेस प्रूफ पेश करने पर ही मिल जाएगा कनेक्शन

कोर्ट के निर्देशों का पालन करने के लिए टेलीकॉम डिपार्टमेंट (डीओटी) ने ये नई गाइडलाइन जारी की है।

नई दिल्ली। सरकार ने टेलीकॉम कंपनियों के लिए एक नया गाइडलाइन जारी किया है। इसके मुताबिक कंपनियां नए सिम के लिए अब आधार ई-केवाईसी का इस्तेमाल नहीं कर सकती। ये नया नियम मौजूदा ग्राहकों के लिए अनिवार्य है। बता दें कि बीते सितंबर में सुप्रीम कोर्ट ने सिम कार्ड के लिए आधार की अनिवार्यता खत्म कर दी थी। इसके साथ ही सरकार ने भी मौजूदा और नए ग्राहकों के लिए आधार ई-केवाईसी वेरिफिकेशन बंद करने के निर्देश जारी किए थे।

कोर्ट के निर्देशों का पालन करने के लिए टेलीकॉम डिपार्टमेंट (डीओटी) ने ये नई गाइडलाइन जारी की है। इस गाइडलाइन के तहत सिम के लिए ये प्रावधान है:-

- नए सिम कार्ड रजिस्ट्रेशन के लिए आधार नंबर जरूरी नहीं।
- रजिस्ट्रेशन के लिए आईडी प्रूफ और एड्रेस प्रूफ ही काफी।
- कस्टमर एक्यूजिशन फॉर्म (सीएएफ) के जरिए वेरिफिकेशन पूरा करेंगी टेलीकॉम कंपनियां। इसके तहत ग्राहक की लाइव फोटो और एड्रेस प्रूफ की स्कैन इमेज लगानी होगी। लाइव फोटो में सीएएफ नंबर, जीपीएस कॉर्डिनेट, रिटेल आउटलेट का नाम और यूनिक कोड का वॉटरमार्क जरूरी होगा। इसके साथ-साथ फोटो पर समय और तारीख भी स्टांप करनी होगी।
- गाइडलाइन के हिसाब से सिर्फ फोटोग्राफ ही नहीं, हर तरह के आइडेंटिटी प्रूफ पर टेलीकॉम ऑपरेटर को वॉटरमार्क करना जरूरी। सीएएफ फॉर्म में मांगी गई सभी जानकारी को भरना अनिवार्य होगा।
- इसके अलावा ऐसे आईडी प्रूफ जिनमें क्यूआर कोड उपलब्ध हैं, उसे भी स्कैन कराया जा सकता है।

दूसरा सिम कार्ड होना जरूरी है

इन बिंदुओं के अलावा नए सिम के रजिस्ट्रेशन के लिए ग्राहक के पास पहले से ही दूसरा सिम कार्ड होना भी जरूरी है। दरअसल नई सिम पूराने सिम के आधार पर ही दी जाएगी। नई सिम के वेरिफिकेशन के लिए पुरानी सिम पर ओटीपी नंबर भेजा जाएगा। हालांकि जिन ग्राहकों के पास पहले से कोई सिम उपलब्ध नहीं है, ऐसी स्थिति में उन्हें अपने परिवार में से किसी का मोबाइल नंबर देना होगा, जिस पर ओटीपी भेजकर वेरिफिकेशन किया जा सके। इसे ग्राहक के दस्तखत के तौर पर मान्यता दी जाएगी। साथ ही ये भी कहा जा रहा है कि आईडी प्रूफ और एड्रेस प्रूफ जैसे वेरिफिकेशन के बाद ही सिम कार्ड एक्टिवेट होगा।

एक दिन में सिर्फ दो सिम किए जाएंगे जारी

टेलीकॉम डिपार्टमेंट की तरफ से जारी नई गाइडलाइंस में एक और बहुत महत्वपूर्ण प्रावधान रखा गया है। इसके तहत एक दिन में टेलीकॉम कंपनियां डिजिटल केवाईसी प्रोसेस का उपयोग कर सिर्फ दो सिम कार्ड ही जारी कर सकती हैं। साथ ही ग्राहक के दूसरे नंबर पर आए ओटीपी के जरिए ही टेली-वेरिफिकेशन किया जा सकता है।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned